SHANKAR PUNTAMBEKAR

शंकर पुणतांबेकर एक विचारोत्तेजक व्यंग्यकार हैं। महाराष्ट्र के निवासी हैं, पर मूलतः मध्य प्रदेश के हैं। शिक्षा-दीक्षा विदिशा, ग्वालियर में हुई। आरम्भिक नौकरी विदिशा जैन इंटर कॉलेज़ में। आगे जलगाँव के मूलजी जेठा कॉलेज में 25 से अधिक व्यंग्य पुस्तकों का लेखन जिनमें व्यंग्य अमरकोश, बाअदब बेमुलाहजा तथा फर्जी से पैदा भयो विशेष उल्लेखनीय मालरोड मर्डर, सफेद कौए काले हंस नाटक शीघ्र प्रकाश्य। 1985 में सेवानिवृत्त।

SHANKAR PUNTAMBEKAR

Books by SHANKAR PUNTAMBEKAR