PARAMITA SATPATHY

लेखन: पिछले पच्चीस वर्षों से लेखन कार्यों में रत हैं। अब तक छः कहानी संग्रह एवं एक उपन्यास ओड़िया भाषा में प्रकाशित। एक काव्य संग्रह ओड़िया भाषा में प्रकाशनाधीन। अनुवाद: अंग्रेजी में अनूदित कहानी संग्रह इंटीमेट प्रिटेंस (2010) रूपा एंड कं., नयी दिल्ली से प्रकाशित। हिन्दी में अनूदित कहानी संग्रह ‘दूर के पहाड़’ (2007) भारतीय ज्ञानपीठ से प्रकाशित। बांग्ला में अनूदित कहानी संग्रह ‘प्राप्ति व अन्यान्य गल्प’ (2014) प्रकाशित। अनेक कहानियाँ हिन्दी, अंग्रेजी, तेलुगु, बांग्ला और गुजराती में अनूदित एवं इंडियन लिटरेचर, म्यूज इंडिया, समकालीन भारतीय साहित्य, शब्दयोग, नया ज्ञानोदय, हंस, वागर्थ, जनसत्ता, अक्षरा, विपुला (तेलुगु), द लिटल मैगजीन और भाषा, बन्धन (बांग्ला) आदि पत्रा-पत्रिकाओं में प्रकाशित। पुरस्कार: ओडिशा राज्य साहित्य अकादमी, भारतीय भाषा परिषद (कोलकाता), गंगाधर रथ फाउंडेशन (ओडिशा), भुवनेश्वर पुस्तक मेला आदि पुरस्कारों से सम्मानित। सेवा: अगस्त 1989 से भारतीय राजस्व सेवा से सम्बद्ध। वर्तमान आयकर विभाग में आयुक्त के पद पर कार्यरत।

PARAMITA SATPATHY

Books by PARAMITA SATPATHY