VARTIKA NANDA

वर्तिका नन्दा का परिचय : मीडियाकर्मी, शिक्षक और चिंतक। महिला सशक्तिकरण के लिए जुझारू एंबेसेडर। मीडिया साहित्य और अपराध को लेकर प्रयोग। भारत के राष्ट्रपति श्री प्रणव मुखर्जी से 2014 के अंतर्राष्‍ट्रीय महिला दिवस पर स्त्री शक्ति पुरस्‍कार से सम्मानित। बलात्कार और प्रिंट मीडिया की रिपोर्टिंग पर पीएचडी । दिल्ली विश्वविद्यालय के लेडी श्री राम कॉलेज में पत्रकारिता का अध्यापन। जी टीवी, एनडीटीवी, भारतीय जनसंचार संस्थान, नई दिल्ली और लोकसभा टीवी से भी जुड़ी रहीं। भारतीय टेलीविजन में अपराध बीट की प्रमुख पत्रकार। खास किताबें : तिनका तिनका तिहाड़ - तिहाड़ के महिला कैदियों की कविताओं का अनूठा संग्रह, 2013 (विमला मेहरा, आईपीएस, के साथ संपादन)। थी. हूं ..रहूंगी.. घरेलू हिंसा पर देश का पहला कविता संग्रह (2012)। टेलीविजन और क्राइम रिपोर्टिंग (2010) मीडिया पर चर्चित पुस्तक। कला: उनका लिखा गाना - तिनका तिनका तिहाड़ कैदियों ने गाया। सीडी भी बनी। घरेलू हिंसा पर उनकी लघु फिल्म नानकपुरा कुछ नहीं भूलता भारत सरकार के महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के अलावा सीबीएसई के यूट्यूब चैनल का भी हिस्सा। अन्य : लाडली मीडिया अवॉर्ड (2015), स्त्री शक्ति पुरस्‍कार (2014), यूथ आइकॉन अवॉर्ड(2013), ऋतुराज परंपरा सम्मान(2012), डॉ राधाकृष्ण मीडिया अवॉर्ड(2012), भारतेंदु हरिश्चंद्र अवॉर्ड(2007) और सुधा पत्रकारिता सम्मान (2007)। कविता में दखल : 2014 के जयपुर लिटरेरी फेस्टिवल और कटक लिटरेचर फेस्टिवल में आमंत्रित। न्यू यॉर्क में अंतर्राष्ट्रीय हिन्दी सम्मेलन(2014) और विश्व हिन्दी सम्मेलन, दक्षिण अफ्रीका में भागीदारी (2012)। अंतर्राष्ट्रीय पुस्तक मेले(2014) के हिन्दी महोत्सव में कई कार्यक्रमों का संचालन।

VARTIKA NANDA