SUDHAKAR PATHAK

कवि श्री सुधाकर पाठक इस कविताके संग्रह की खूबी है ज़िन्दगी के साथ इसका जुड़ाव, ज़िन्दगी के बारे में इसका नज़रिया, इंसानी ज़िन्दगी की कमज़ोरियाँ, इंसानी ज़िन्दगी की मजबूतियाँ, इंसानी ज़िन्दगी के इन्द्रधनुषी रंग, ज़िन्दगी के सपने और यथार्थ! यानि ज़िन्दगी से जुड़े वो तमाम पहलू जिनके बारे मे हर इंसान कभी कुछ सोचता है, मन में महसूस करता है, और जिन्हे जीता है ऐसे तमाम बिम्बों,चित्र और सपने को यथार्थ की कठोर धरती से जोड़ते हुए कवि ने इंसानी ज़िन्दगी की एक स्याह -सफ़ेद तस्वीर इस कविता संग्रह के माध्यम से प्रस्तुत की है

SUDHAKAR PATHAK

Books by SUDHAKAR PATHAK