Hariyash Rai

हरियश राय उत्तर प्रदेश के फतेहगढ़ में प्रारम्भिक शिक्षा, 1971 के बाद की शिक्षा दिल्ली से। दो उपन्यासों नागफनी के जंगल में और मुट्ठी में बादल के अलावा छह कहानी संकलन बर्फ़ होती नदी, उधर भी सहरा, अन्तिम पड़ाव, वजूद के लिए, सुबह-सवेरे व किस मुकाम तक प्रकाशित। इसके साथ ही सामयिक विषयों से सम्बन्धित पाँच अन्य किताबें भारत-विभाजन और हिन्दी उपन्यास, सूचना तकनीक, बाजार एवं बैंकिंग, समय के सरोकार, शिक्षा, भाषा और औपनिवेशिक दासता, तय किया मैंने सफ़र व कथा : एक यात्रा प्रकाशित। कथा-कहानी 'एक' का सम्पादन। सम्पर्क : 73, मनोचा अपार्टमेंट, एफ ब्लॉक, विकासपुरी, नयी दिल्ली-110018 ई-मेल : hariyashrai@gmail.com

Hariyash Rai