Jyoti Chawla

​ ज्योति चावला युवा लेखिका। कविता और कहानी में समान रूप से लेखन। एक कविता संग्रह ‘माँ का जवान चेहरा’ और एक कहानी संग्रह ‘अँधेरे की कोई शक्ल नहीं होती’ प्रकाशित। कविता की यह दूसरी किताब। कविताएँ और कहानियाँ विभिन्न भारतीय भाषाओं में अनूदित। कहानी महत्त्वपूर्ण कहानी संकलनों में संकलित। कविता के लिए शीला सिद्धान्तकर स्मृति सम्मान। सृजनात्मक साहित्य के अलावा अनुवाद के उत्तर-आधुनिक विमर्श में ख़ास रुचि। इन दिनों कविताओं, कहानियों के अतिरिक्त इस विषय पर सक्रियता से लेखन। इन्दिरा गाँधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय, दिल्ली में अध्यापन।

Jyoti Chawla