DINESH KHANNA

राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय से 1986 में अभिनय में डिप्लोमा। रा.ना.वि. द्वारा एक-वर्षीय फैलोशिप में साहित्यिक कृतियों का नाट्य-रूपान्तरण एवं मंचन और रंगमंडल में एक वर्ष बतौर अभिनेता कार्य। पिछले पन्द्रह वर्षों से रंगमंच, रंगमंच तकनीक, अनुवाद, रूपान्तरण व निर्देशन में कार्य करते हुए अनेक उपन्यास, कहानियों और देश-विदेश के नाटकों का निर्देशन। राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय द्वारा संचालित रंग-शिविरों में बतौर प्रशिक्षक व शिविर-निर्देशक की सक्रिय भूमिका। गुजराती रंगमंच में स्त्री भूमिकाएं निभाने वाले प्रसिद्ध अभिनेता जयशंकर सुन्दरी के आत्मवृत्त पर आधारित नाट्य आलेख। राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय के छात्रों के साथ गुजरात भूकंप त्रासदी पर आधारित नाट्य आलेख ‘तिनका तिनका’ का लेखन। केन्द्रीय संस्कृति विभाग भारत सरकार से सीनियर फैलोशिप के अन्तर्गत स्तानिस्लाब्स्की, ग्रोतोव्स्की और आर्तो की अभिनय-पद्धति पर शोधकार्य। प्रकाशित कृति जयशंकर सुन्दरी की आत्मकथा ‘कुछ आँसू कुछ फूल’ का अनुवाद राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय से प्रकाशित। रंग प्रसंग में मेयरहाल्ड, आर्तो और माईकेल चेख़व के रंगमंच और अभिनय निधान पर लंबे आलेख प्रकाशित। इन दिनों राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय में अभिनय प्रशिक्षण के प्रशिक्षक।

DINESH KHANNA

Books by DINESH KHANNA