Dr. Brijbala Singh

डॉ. बृजबाला सिंह एसोसिएट प्रो. हिन्दी विभाग, आर्य महिला पी.जी. कॉलेज, चेतगंज, वाराणसी जन्म: 12 दिसम्बर, 1957, वाराणसी शिक्षा: एम.ए. (हिन्दी) उदय प्रताप कॉलेज, वाराणसी (1978), पीएच.डी. (1981) एवं रिसर्च एसोसिएट (1984-1986), हिन्दी विभाग, काशी हिन्दू विश्वविद्यालय, वाराणसी-221005 प्रकाशित पुस्तकें: मुक्तिबोध और उनकी कविता; भगवत रावत: अपने समय का चरितार्थ; सूरदास की कविता में वक्रोक्ति; आधुनिक भारत के निर्माता: महामना पं. मदन मोहन मालवीय; नीरजा माधव: सृजन के आयाम। प्रकाशित लेख: वसुधा, मित्र, माध्यम, संवेद, नागरी प्रचारिणी पत्रिका, नागरी पत्रिका, शब्दार्थ, आलोचना, छायानट, वर्तमान सन्दर्भ, हिन्दी अनुशीलन, उन्नयन, सांस्कृतिक समुच्चय, इण्डिया टुडे, कथन, उपलब्धि, पुनर्नवा, नागरिक उत्तर प्रदेश, आजकल, वागर्थ, लमही, संवाद, शब्द शिखर, जनपथ, पाठ आदि पत्रिकाओं, समाचार-पत्रों और आलोचना ग्रन्थों में शताधिक लेख।

Dr. Brijbala Singh