Dr. Dilip Mehra

जन्म : 27 दिसम्बर 1968, बार, ता. वीरपुर, जनपद-खेड़ा, गुजरात। शिक्षा : एम.ए. (स्वर्ण पदक), एम. फिल., पीएच.डी.। सम्प्रति : आचार्य, हिन्दी विभाग, सरदार पटेल विश्वविद्यालय, वल्लभ विद्यानगर। प्रधान सम्पादक : साहित्य वीथिका, अर्द्धवार्षिक (अन्तर्राष्ट्रीय)। प्रोजेक्ट : यू.जी.सी. का मेजर प्रोजेक्ट सम्पन्न। पुरस्कार : नागरी प्रचारिणी सभा देवरिया द्वारा हिन्दी भाषा एवं साहित्य के लिए नागरी रत्न (2015), भारतीय दलित साहित्य अकादमी, नयी दिल्ली से अम्बेडकर फेलोशिप (2011), महाराष्ट्र दलित साहित्य अकादमी भुसावल से रवीन्द्रनाथ टैगोर लेखक पुरस्कार (2010)। प्रकाशित कृतियाँ : मन्नू भण्डारी के कथा-साहित्य में मानव जीवन की समस्याओं का निरूपण, मन्नू भण्डारी का कथा-संसार, उपन्यासकार धर्मवीर भारती, साठोत्तरी हिन्दी उपन्यास, मध्यकालीन हिन्दी काव्य, हिन्दी उपन्यास : नये आयाम, मीडिया लेखन, दृश्य-श्रव्य माध्यम : विविध परिप्रेक्ष्य, हिन्दी कथा-साहित्य में दलित विमर्श, हिन्दी महिला कथाकारों के साहित्य में नारी विमर्श, प्रेमचन्द के कथा-साहित्य में सामाजिक सरोकार, वाङ्गमय वाटिका के विविध रंग, दलित केन्द्रित हिन्दी उपन्यास, आदिवासी संवेदना और हिन्दी उपन्यास, इक्कीसवीं सदी का गद्य साहित्य, मकान पुराण (कहानी संग्रह)। आलेख : 100 से अधिक राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय पत्रिकाओं में लेख प्रकाशित।

Dr. Dilip Mehra

Books by Dr. Dilip Mehra