Bhoomika Joshi

भूमिका जोशी ज़बान से लखनऊवा और दिल से अल्मोडिया हैं। दिमाग से फिलहाल अमरीका के येल विश्वविद्यालय में ऐन्थ्रोपॉलॉजी की शोधकर्ता और पीएच. डी. छात्र हैं। अपनी रूह के चार हिस्से करने का सपना देखती हैं ताकि एक अल्मोड़ा में लच्छी के कमरे में, एक लखनऊ में माँ की रसोई में, एक लन्दन की सड़कों पर और एक दिल्ली के दोस्तों के साथ बस सके। सपना पूरा करने तक पढ़ने और पढ़ाने का आनन्द ले रही हैं। यह उनकी पहली प्रकाशित रचना है।

Bhoomika Joshi

Books by Bhoomika Joshi