AGNETA PLEIJEL

अग्निएता प्लेय्येल का जन्म 1940 में स्टॉकहोम में हुआ, और वे गॉटेनबर्ग विश्वविद्यालय में पढीं,जहाँ उन्होंने साहित्य दर्शन तथा नृतत्वशास्त्र का अध्ययन किया । उनका पहला उपन्यास, वह जो हवा को देखता था , 1987 में प्रकाशित हुआ और बहुत प्रशंसित हुआ । इसके लिए उन्हें एस्सेल्ते पुरस्कार दिया गया जो स्वीडन का महत्त्वपूर्ण राष्ट्रीय पुरस्कार है । तब से उनके चार और उपन्यास प्रकाशित हुए है कुकुर नक्षत्र 1989, फफूँदें 1993, स्टॉकहोम में शीत ऋतु 1997 तथा लॉर्ड नेवर मोर 2011 । वे कविता भी लिखती है और अब तक उनके तीन कविता-संग्रह प्रकाशित हुए हैं फरिश्ते, बौने 1981, किसी स्वप्न से आखें 1984, तथा आँटियाँ और अन्य कविताएँ 2004 । इसके अलावा उन्होंने कई नाटक भी लिखे हैं, जिनमें से दो के शीर्षक है मानक/ चयन 2004, तथा नदी के पास 2003 । अग्निएता प्लेय्येल स्वीडन के भिन्न-भिन्न समाचार- पत्रों और पत्रिकाओं के लिए अनुवादक, आलोचक और कला सम्पादक के तौर पर काम करती रहीं है । 1984 से वे स्वीडिश इन्सिट्यूट की सदस्य तथा 1987 से स्वीडिश PEN की अध्यक्ष हैं । उनकी रचनाएँ करीब सत्रह यूरोपीय भाषाओं में अनूदित हुई हैं । वे स्वीडन के लगभग सभी साहित्यिक पुरस्कारों से सम्मानित हो चुकी हैं जिनमें सेल्मा लागरलॉफ़ पुरस्कार भी शामिल हैं ।

AGNETA PLEIJEL

Books by AGNETA PLEIJEL