DR. USHA THAKUR

डॉ. उषा ठाकुर,प्रोफेसर डॉ. उषा ठाकुर (एम.ए., पी-एच.डी. पटना विश्वविद्यालय) लगभग 22 वर्षों से शिक्षण तथा अनुसन्धान से सम्बद्ध रही हैं तथा पिछले 19 वर्षों से सनतकोत्तर हिन्दी विभाग, त्रिभुवन विश्वविद्यालय, काठमांडू, नेपाल में अध्यापन तथा अनुसन्धान कार्य से सम्बद्ध रही है। उनका साहित्यिक व्यक्तित्व हिन्दी साहित्य और नेपाली साहित्य दोनों से जुड़ा हुआ है। नेपाल तथा भारत की अनेक साहित्यिक पत्र-पत्रिकाओं में हिन्दी तथा नेपाली भाषा में इनकी अनेकानेक शोधपरक समालोचनाएँ प्रकाशित होती रही हैं। साथ ही अनेकों कविताएँ और कहानियाँ भी प्रकाशित हो चुकी हैं। समय-समय पर वे पटना विश्वविद्यालय (पटना), त्रिभुवन विश्वविद्यालय (काठमांडू) पेकिंग विश्वविद्यालय (चीन), क्ंनचीपदम न्दपअमतेपजल (पेरिस, फ्रांस) तथा विभिन्न शोध संस्थानों और साहित्यिक संस्थाओं द्वारा आयोजित प्रवचन-गोष्ठियों में सक्रिय सहभागिता लेती रही हैं। ‘महेन्द्र विद्या भूषण’, ‘रत्न-श्री स्वर्ण पदक’ तथा विभिन्न पुरस्कारों से सम्मानित डॉ. उषा ठाकुर सम्प्रति डी.लिट्. के लिए ‘पन्त और देवकोटा के काव्यों का तुलनात्मक अध्ययन’ विषय पर शोध कार्य मंे संलग्न। उनकी ‘पन्त काव्य की सामाजिक भूमिका शीर्षक पुस्तक सन् 1995 में प्रकाशित हो चुकी है तथा ‘महाकवि लक्ष्मी प्रसाद देवकोटा की काव्य-साधना’ पुस्तक शीघ्र प्रकाशय।

DR. USHA THAKUR