GORISHANKAR RAINA

गौरीशंकर रैणा जन्म : 5 फरवरी 1954, श्रीनगर (कश्मीर) दौये वैले बर्लिन तथा एशियन मीडिया कम्यनिकेशन सेंटर सिंगापर से टेलीविज़न नाटकों के निर्देशन में प्रशिक्षित। एडवांस डिप्लोमा (मीडिया) के साथ ही फ़िल्म टी.वी. संस्थान पूणे से टेलीविजन कार्यक्रम निर्देशन में प्रशिक्षित। एन.एफ.डी.सी. की फ़िल्मों के लिए संवाद लेखन तथा रेडियो के लिए कई नाटकों का रूपांतर। टेलीविज़न नाटकों, वृत्तचित्रों तथा लाइव शोज का निर्देशन। प्रमुख टेलीफ़िल्में तथा नाटक- 'भीगी धूप', 'चीफ़ की दावत', 'शहनशाह इडियस', 'अनुभूति', 'खंडहर', 'विदाई', 'बंधन' तथा 'आख़िरी फैसला' 1450 से अधिक टेलीविज़न लाइव शोज़ का निर्देशन। वृत्तचित्र 'ओड ट पीस' के लिए लोक सेवा प्रसारण परस्कार। दूरदर्शन के लिए ही निर्देशित एक अन्य फ़िल्म 'द गोल्डन आर्ट' अंतर्राष्ट्रीय समारोहों में प्रदर्शित। कृतियाँ : 'एक वही मैं', (तीन लघु नाटकों का संकलन) 'संचार टेक्नोलॉजी' (शोधग्रंथ), 'यह राजधानी' (कहानी संग्रह का अनुवाद) 'पालने का पत' (बहचर्चित कश्मीरी नाटक का हिन्दी अनुवाद), कहानियों, लेख, एवं नाट्य अनुवाद विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित। पुरस्कार : मानव संसाधन विकास मंत्रालय के केन्द्रीय हिंदी निदेशालय द्वारा हिंदीतर भाषी हिंदी साहित्यकार सम्मान (1990-9101 संस्कति मंत्रालय द्वारा टेलीविजन नाटकों के लिए सीनियर फलोशिप। जम्मू-कश्मीर संस्कृति, कला एवं साहित्य अकादमी द्वारा रंगमंच प्रस्तुतियों के लिए सम्मानित। संप्रति : दिल्ली दूरदर्शन में कार्यक्रम अधिकारी।

GORISHANKAR RAINA