जनसंख्या विस्फोट और पर्यावरण प्रदूषण

Format:Hard Bound

ISBN:978-81-8143-858-4

लेखक:प्रभा कुमारी

Pages:96

मूल्य:रु200/-

Stock:Out of Stock

Rs.200/-

Details

आज इस इक्कीसवीं सदी में लगातार बढ़ती जनसंख्या के कारण पर्यावरण में ऐसे परिवर्तन हो रहे हैं कि भविष्य भयावह दिख रहा है। 2001 की जनगणना के अनुसार एक अरब 7 करोड़ भारत की जनसंख्या है जबकि पूरे विश्व की जनसंख्या साढ़े छह अरब है। इतनी बड़ी जनसंख्या की मूलभूत आवश्यकताओं की पूर्ति करना देश के लिए कठिन समस्या है। जनसंख्या विस्फोट की स्थिति के कारण पर्यावरण प्रदूषण काफी बढ़ रहा है। क्योंकि इतनी बड़ी जनसंख्या को खिलाने के लिए खेतों में अन्धाधुन्ध उर्वरक, कीटनाशकों का उपयोग होने लगा है, जिसके कारण मिट्टी, पानी प्रदूषित हो चुका है।

Additional Information

No Additional Information Available

About the writer

DR. PRABHA KUMARI

DR. PRABHA KUMARI

Books by DR. PRABHA KUMARI

Customer Reviews

No review available. Add your review. You can be the first.

Write Your Own Review

How do you rate this product? *

           
Price
Value
Quality