प्रेमचंद का सौंदर्य शास्त्र

Format:

ISBN:978-81-8143-635-1

लेखक:नन्दकिशोर नवल

Pages:

मूल्य:रु200/-

Stock:Out of Stock

Rs.200/-

Details

No Details Available

Additional Information

No Additional Information Available

About the writer

ED. NAND KISHORE NAWAL

ED. NAND KISHORE NAWAL नन्दकिशोर नवल जन्म : 2 सितम्बर, 1937 (चाँदपुरा, हाजीपुर, वैशाली)। शिक्षा : एम. ए. (हिन्दी), पी-एच.डी. ('निराला का काव्य-विकास')। आजीविका : पटना विश्वविद्यालय के हिन्दी विभाग में अध्यापन कार्य (अब अवकाश प्राप्त)। फिलहाल स्वतन्त्र लेखन। मौलिक कृतियाँ : कविता की मुक्ति, हिन्दी आलोचना का विकास, प्रेमचन्द का सौन्दर्यशास्त्र, महावीरप्रसाद द्विवेदी, शब्द जहाँ सक्रिय हैं, यथाप्रसंग, समकालीन काव्ययात्रा, मुक्तिबोध : ज्ञान और संवेदना, निराला और मुक्तिबोध : चार लम्बी कविताएँ, दृश्यालेख, मुक्तिबोध, रचना का पक्ष, निराला : कृति से साक्षात्कार ( दो खण्ड), शताब्दी की कविता, निराला-काव्य की छवियाँ, पार्श्वच्छवि, कविता के आर-पार। सम्पादित कृतियाँ : असंकलित कविताएँ : निराला. निराला रचनावली (आठ खण्ड), रुद्र समग्र, हर अक्षर है टुकड़ा दिल का, काव्य समग्र : रामजीवन शर्मा 'जीवन', राकेश समग्र, रामावतार शर्मा : प्रतिनिधि संकलन, मैं पढ़ा जा चुका पत्र, अँधरे में ध्वनियों के बुलबुल, कामायनी-परिशीलन, मुक्तिबोध: कवि-छवि, निराला : कवि-छवि, अन्त-अनन्त, मैथिलीशरण गुप्त संचयिता, नामवर सिंह संचयिता, छायान्तर। सम्पादित पत्रिकाएँ : ध्वजभंग, सिर्फ, धरातल, उत्तरशती, कसौटी और आलोचना (सहसम्पादक के रूप में)। वर्तमान पता : घाघा घाट रोड, महेन्द्रू, पटना-800006

Customer Reviews

No review available. Add your review. You can be the first.

Write Your Own Review

How do you rate this product? *

           
Price
Value
Quality