भीष्म साहनी

Format:Paper Back

ISBN:978-93-5229-458-9

लेखक:श्याम कश्यप

Pages:280

मूल्य:रु295/-

Stock:In Stock

Rs.295/-

Details

No Details Available

Additional Information

भीष्म साहनी हमारी भाषा और साहित्य के उन बड़े रचनाकारों में शुमार हैं जिन्होंने एक व्यापक जीवनानुभव को अपनी रचनाओं में पूरी तरह कायान्तरित कर दिया है। साहित्य और जीवन जैसे उनके लिए पर्याय की तरह थे। वे जीवन को साहित्य की तरह रचते थे और साहित्य को जीवन की तरह जीते थे। उनका रचना-संसार हमारे सामने मानवीयता से भरे हुए एक विराट संसार को उपस्थित करता है, सौहार्द्र और भाईचारे का एक मानवीय परिवेश निर्मित करता है और उसे देशकाल के व्यापक सरोकारों से जोड़ देता है। लेखक ने भीष्म साहनी पर गहन शोध के बाद इस पुस्तक पाठकों केर सामने रखी है।

About the writer

SHYAM KASHYAP

SHYAM KASHYAP जन्म : 21 नवम्बर, 1948; नवाँशहर दोआबा (पंजाब)। शिक्षा : एम.ए. (राजनीति विज्ञान), पीएच.डी. (पत्रकारिता एवं जनसंचार)। वृत्ति : पत्रकारिता एवं विश्वविद्यालय में अध्यापन कार्य। मौलिक कृतियाँ : गेरू से लिखा हुआ नाम' और 'लहू में फँसे शब्द' (कविता संग्रह); 'मुठभेड़', 'सृजन और संस्कृति', 'साहित्य की समस्याएँ और प्रगतिशील दृष्टिकोण' तथा 'मार्क्स, एलिएनेशन सिद्धान्त और साहित्य' (आलोचना)। सम्पादित कृतियाँ : ‘परसाई रचनावली', 'हिन्दी की प्रगतिशील आलोचना', 'हिन्दी साहित्य का इतिहास : पुनर्लेखन की समस्याएँ', 'हरिशंकर परसाई : संकलित रचनाएँ', डॉ. रामविलास शर्मा की ‘इतिहास और समकालीन परिदृश्य' श्रृंखला की चारों पुस्तकें (स्वाधीनता संग्राम : बदलते परिप्रेक्ष्य, भारतीय इतिहास और ऐतिहासिक भौतिकवाद, पश्चिमी एशिया और ऋग्वेद तथा भारतीय नवजागरण और यूरोप), 'रास्ता इधर है' और विख्यात पत्रिका 'पहल' का फ़ासीवाद-विरोधी विशेषांक। इनके अतिरिक्त 13 खंडों की पुस्तकमाला ‘टीवी पत्रकारिता' का लेखन कर रहे हैं, तीन खंड प्रकाशित : 1. टेलीविज़न की कहानी, ख़बरें विस्तार से तथा चैनलों के चेहरे (टीवी एंकरिंग)।

Books by SHYAM KASHYAP

Customer Reviews

No review available. Add your review. You can be the first.

Write Your Own Review

How do you rate this product? *

           
Price
Value
Quality