KAVITA KI TALASH

Format:

ISBN:978-93-5000-203-2

Author:CHANDRAKANT VANDIVADEKAR

Pages:

MRP:Rs.395/-

Stock:In Stock

Rs.395/-

Details

नयी कविता और उसकी परवर्ती काव्य प्रवृत्तियों के बीच काव्य विषयक सैद्धान्तिक मुद्दों पर जो बहसें हुई हैं उनमें पक्षधर चिन्तकों एवं समीक्षकों ने अपने एकांतिक आग्रहों से मूलभूत मुद्दों को या तो नजरअन्दाज किया है या अनावश्यक आवेग में केन्द्रीय समस्याओं को छोड़ कर अन्य बातों के सम्बन्ध में ही वैचारिक शक्ति-प्रदर्शन किया। प्रस्तुत समीक्षा ग्रन्थ में काव्य-संवेदना को केन्द्र में रख कर काव्य विषयक मूलभूत सिद्धान्तों का विवेचन किया गया है। काव्य की गत्यात्मक प्रक्रिया के माध्यम से उत्पन्न विविध चुनौतियों के बीच एक गतिशील काव्य-शास्त्रा की खोज श्री स. ही. वात्स्यायन ने की है। प्रस्तुत ग्रन्थ में उनकी विभिन्न बिखरी वैचारिक सामग्री के बीच से एक सम्यक् काव्य सिद्धान्त को प्रस्तुत करने का प्रयास किया गया है। इसी के साथ जीवनानुभूति और काव्यानुभूति, सौन्दर्यानुभूति और आधुनिकता का विचार साहित्य में विचार तत्त्व का स्थान, साहित्य के लिए खतरे उत्पन्न करने वाली स्थितियाँ, साहित्यकार की प्रतिबद्धता को काव्य के माध्यम से पहचान इत्यादि महत्त्वपूर्ण विषयों पर संवेदनात्मक नजरिए से चिन्तन किया गया है। धर्मवीर भारती, वीरेन्द्र कुमार जैन, सर्वेश्वरदयाल सक्सेना, गिरिजा कुमार माथुर, जगदीश गुप्त, कुंवर नारायण, धूमिल जैसे प्रतिष्ठित कवियों के कवि-व्यक्तित्व की शक्ति एवं सीमाओं का आकलन करने का प्रयास किया गया है। पिछले दस-बारह वर्षों में प्रकाशित कुछ महत्त्वपूर्ण काव्य-संग्रहों का आस्वादन भी प्रस्तुत ग्रन्थ का एक महत्त्वपूर्ण आयाम है। कुल मिला कर काव्य का सैद्धान्तिक चिन्तन, कवि व्यक्तित्व का मूल्यांकन एवं कविता का वस्तुनिष्ठ आस्वादन, प्रस्तुत ग्रन्थ का त्रि-आयामी स्वरूप है।

Additional Information

No Additional Information Available

About the writer

CHANDRAKANT VANDIVADEKAR

CHANDRAKANT VANDIVADEKAR डॉ. चंद्रकांत बांदिवडेकर जन्म: 5 नवम्बर, 1932 (डोर्ले, रत्नागिरी, महाराष्ट्र) शिक्षा: एम.ए.; पीएच.डी. (बम्बई विश्वविद्यालय) प्रकाशित रचनाएँ: हिन्दी और मराठी के सामाजिक उपन्यासों का तुलनात्मक अध्ययन; अज्ञेय की कविता: एक मूल्यांकन; उपन्यास स्थिति और गति; कविता की तलाश (केन्द्रीय हिन्दी निदेशालय द्वारा पुरस्कृत); जैनेंद्रजी के उपन्यास: मर्म की तलाश; आधुनिक हिन्दी उपन्यास: सृजन और आलोचना; मराठी कादंबरी: चिन्तन आणि समीक्षा (मराठी, महाराष्ट्र राज्य शासन एवं महाराष्ट्र साहित्य परिषद द्वारा पुरस्कृत); प्रेमचंद व्यक्ति आणि वाङ्मय (मराठी); मराठी कादंबरीचा इतिहास (मराठी); कथाकार अज्ञेय। अनुवादित ग्रंथ: चानी (चिंतक खानोलकर के मराठी उपन्यास का हिन्दी में अनुवाद, केन्द्रीय हिन्दी निदेशालय द्वारा पुरस्कृत); ऑक्टोपस (श्री. नापेंडसे के मराठी उपन्यास का हिन्दी अनुवाद); सौंदर्य मीमांसा (डॉ. रा.भा. पारणकर के मराठी ग्रंथ का अनुवाद); इसी मिट्टी से (कुसुमाग्रज की कविताओं का अनुवाद); प्रेमचंद (प्रकाश चंद्र गुप्त की पुस्तक का मराठी अनुवाद)। संपादन: गोविन्द मिश्र: सृजन के आयाम; कथा भारती भाग-2; प्रेमचंद दृष्टि और सृष्टि; साहित्य और दलित चेतना; ज्ञानेश्वर जीवन और कार्य (माता कुसुम कुमारी अन्तर्राष्ट्रीय हिन्दीतर भाषी हिन्दी लेखक पुरस्कार-1992); समकालीन मराठी कहानी; हरिनारायण व्यास; कथा भारती (भारतीय कहानीकारों की कहानियों का संकलन)। अन्य प्रकाशन: हिन्दी और मराठी के 20 से अधिक संपादित ग्रंथों में लेख समाविष्ट; हिन्दी और मराठी की श्रेष्ठ पत्रिकाओं में 250 से अधिक लेख प्रकाशित। उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान की ओर से हिन्दी सेवा के लिए सौहार्द सम्मान पुरस्कार (1989)।

Customer Reviews

No review available. Add your review. You can be the first.

Write Your Own Review

How do you rate this product? *

           
Price
Value
Quality