JINNAH MOHAMMAD ALI SE KAYAD-A-AAZAM TAK

Original Book/Language: अंग्रेज़ी भाषा से हिन्दी भाषा में अनूदित लेखक – स्टेनली वोलपर्ट, अनुवादक – अभय कुमार दुबे

Format:Hard Bound

ISBN:978-81-8143-769-3

Author:Stanley Wolpert

Translation:जिन्ना के निजी और सार्वजनिक जीवन को समझे बिना भारतीय उपमहाद्वीप के मौजूदा भौगोलिक और राजनीतिक स्वरूप का तात्पर्य ग्रहण करना असंभव है। आधुनिक भारत के लिए जो मिली-जुली अहमियत महात्मा गाँधी और जवाहरलाल नेहरू की है, वही पाकिस्तान के लिए कायद-ए-आजम मुहम्मद अली जिन्ना की अकेली हस्ती की है। विभाजन के चालीस साल पहले भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के एक नेता के रूप में जिन्ना को हिंदू-मुस्लिम एकता के वाहक की संज्ञा दी गई थी। स्टेनली वोलपर्ट द्वारा रचित जिन्ना की यह प्रामाणिक जीवनी उनके युग की गहराइयों में झाँकते हुए उन्नीसवीं और बीसवीं सदी की उपनिवेशवाद विरोधी राजनीति को एक नए नजरिए से देखने का मौका देती है। इस रचना में पाठकों को जिन्ना की गाँधी और नेहरू से निजी प्रतिद्वंद्विता की रोचक झलकियाँ मिलेंगी, मुस्लिम लीग की अंदरूनी राजनीति में होने वाली उथल-पुथल अपनी समस्त जटिलताओं के साथ अभिव्यक्त होगी और ब्रिटिश साम्राज्यवाद के तत्कालीन सरबराहों के साथ कांग्रेस और लीग की राजनीतिक उठापटक के ब्योरे प्राप्त होंगे।

Pages:534

MRP:Rs.995/-

Stock:In Stock

Rs.995/-

Details

अंग्रेज़ी भाषा से हिन्दी भाषा में अनूदित लेखक – स्टेनली वोलपर्ट, अनुवादक – अभय कुमार दुबे

Additional Information

जिन्ना के निजी और सार्वजनिक जीवन को समझे बिना भारतीय उपमहाद्वीप के मौजूदा भौगोलिक और राजनीतिक स्वरूप का तात्पर्य ग्रहण करना असंभव है। आधुनिक भारत के लिए जो मिली-जुली अहमियत महात्मा गाँधी और जवाहरलाल नेहरू की है, वही पाकिस्तान के लिए कायद-ए-आजम मुहम्मद अली जिन्ना की अकेली हस्ती की है। विभाजन के चालीस साल पहले भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के एक नेता के रूप में जिन्ना को हिंदू-मुस्लिम एकता के वाहक की संज्ञा दी गई थी। स्टेनली वोलपर्ट द्वारा रचित जिन्ना की यह प्रामाणिक जीवनी उनके युग की गहराइयों में झाँकते हुए उन्नीसवीं और बीसवीं सदी की उपनिवेशवाद विरोधी राजनीति को एक नए नजरिए से देखने का मौका देती है। इस रचना में पाठकों को जिन्ना की गाँधी और नेहरू से निजी प्रतिद्वंद्विता की रोचक झलकियाँ मिलेंगी, मुस्लिम लीग की अंदरूनी राजनीति में होने वाली उथल-पुथल अपनी समस्त जटिलताओं के साथ अभिव्यक्त होगी और ब्रिटिश साम्राज्यवाद के तत्कालीन सरबराहों के साथ कांग्रेस और लीग की राजनीतिक उठापटक के ब्योरे प्राप्त होंगे।

Customer Reviews

No review available. Add your review. You can be the first.

Write Your Own Review

How do you rate this product? *

           
Price
Value
Quality