HEDDA GABLER

Original Book/Language: Hedda Gabler/Norwegian

Format:Paper Back

ISBN:81-8143-622-9

Author:

Translation:हेड्डा गेब्लर एक ऐसी सचमुच की जानलेवा और दिलफ़रेब औरत की कहानी है जो अपनी ज़िन्दगी में कम-से-कम एक शख़्स की तक़दीर को मुतासिर करना चाहती है, लेकिन उसकी बदरंग और बेमज़ा वैवाहिक ज़िन्दगी उसकी जान लिये जा रही है। इस ज़िन्दगी से बाहर निकल के लिए, रोमांचक और रूमानी सपनों से भरी हुई जैनरल गेब्लर की यह कुलीन बेटी इस कदर ख़तरनाक खेल खेलती है कि कई लोगों की तक़दीर को मुतासिर कर बैठती है। निहायत नाटकीय तत्वों से भरा हुआ यह नाटक विश्व भर में इब्सन के सबसे ज़्यादा खेले गये नाटकों में से है, और मन के सबसे रहस्यमयी और जांबाज़ कोनों में एक ज़बरदस्त अनुगूंज पैदा करता है। स्वप्न और यथार्थ या फिर रूमानियत और रोज़मर्रा आपस में रोशनी और अंधेरे की तरह खेलते हैं- और इस खेल में ज़िन्दगी और मौत दोनों की धार पूरे नाटक में चमकती रहती है।

Pages:


MRP : Rs. 125/-

Stock:

Rs. 125/-

Details

Hedda Gabler/Norwegian

Additional Information

हेड्डा गेब्लर एक ऐसी सचमुच की जानलेवा और दिलफ़रेब औरत की कहानी है जो अपनी ज़िन्दगी में कम-से-कम एक शख़्स की तक़दीर को मुतासिर करना चाहती है, लेकिन उसकी बदरंग और बेमज़ा वैवाहिक ज़िन्दगी उसकी जान लिये जा रही है। इस ज़िन्दगी से बाहर निकल के लिए, रोमांचक और रूमानी सपनों से भरी हुई जैनरल गेब्लर की यह कुलीन बेटी इस कदर ख़तरनाक खेल खेलती है कि कई लोगों की तक़दीर को मुतासिर कर बैठती है। निहायत नाटकीय तत्वों से भरा हुआ यह नाटक विश्व भर में इब्सन के सबसे ज़्यादा खेले गये नाटकों में से है, और मन के सबसे रहस्यमयी और जांबाज़ कोनों में एक ज़बरदस्त अनुगूंज पैदा करता है। स्वप्न और यथार्थ या फिर रूमानियत और रोज़मर्रा आपस में रोशनी और अंधेरे की तरह खेलते हैं- और इस खेल में ज़िन्दगी और मौत दोनों की धार पूरे नाटक में चमकती रहती है।

Customer Reviews

No review available. Add your review. You can be the first.

Write Your Own Review

How do you rate this product? *

           
Price
Value
Quality