DOOR TAK CHUPPI

Format:Hard Bound

ISBN:978-93-5072-668-6

Author:MADAN KASHYAP

Pages:88

MRP:Rs.200/-

Stock:In Stock

Rs.200/-

Details

दूर तक चुप्पी

Additional Information

मदन कश्यप के इस नये संग्रह की कविताओं की एक खास बात यह है कि सभी कविताएँ छोटी हैं और विषम पंक्तियों की हैं। कविता में छन्द के प्रभाव के कारण सम का महत्त्व रहा है। आगे चल कर भले ही इसका ध्यान नहीं रखा गया। लेकिन सचेत रूप से विषम पंक्तियों वाली कविताओं का पूरा संग्रह शायद ही कभी आया हो। इस दृष्टि से यह एक नया प्रयोग भी है। विषम की महत्ता को लेकर कवि के अपने तर्क होंगे, लेकिन इसका खास प्रभाव यह पड़ता है कि कविता एक झटके के साथ खत्म होती है और पाठक को कुछ और आगे बढ़ कर सोचने का ‘स्पेस’ दे देती है। एक कविता पलामू के अकाल पर लिखी गयी है, जो लगभग छन्द में या छन्दनुमा है। दो-दो पंक्तियों के युग्म में दुर्भिक्ष का मार्मिक चित्राण है लेकिन ग्यारहवीं पंक्ति को अकेला छोड़ दिया गया है, जिसकी अनुगूँज बहुत दूर तक जाती हैµ‘लिखना/कब बच्चों ने छोड़ दिया रोना और माँगना।’ इससे विषम के महत्त्व को समझा जा सकता है। इन कविताओं की एक विशेषता यह भी है कि इनमें शब्दों का बहुत कम प्रयोग किया गया है और अन्तराल को मुखर होने के लिए अधिक अवसर दिया गया है। ‘दुख’, ‘सबसे बड़ा पाप’, ‘संकट’, ‘कच्चा’, ‘विपर्यय’, ‘चुप्पा आदमी’, ‘उद्धारक’ और ‘दंतेवाड़ा’ जैसी कविताएँ अपने छोटे आकार में भी व्यापक सन्दर्भ को समेटती हैं और समय के बड़े सवालों से टकराती हैं। मदन कश्यप के चौथे संग्रह की ये कविताएँ पिछले तीन संकलनों के आधार पर बने उनके काव्य मिजाजश् से मेल नहीं खातीं, बल्कि उसमें एक नया आयाम जोड़ती हैं।

About the writer

MADAN KASHYAP

MADAN KASHYAP मदन कश्यप मदन कश्यप का यह चौथा कविता संग्रह है। पहले के तीन संग्रह इस प्रकार हैं: लेकिन उदास है पृथ्वी (1992); नीम रोशनी में (2000); कुरुज (2006) लेखों के तीन संकलन भी प्रकाशित हैं: मतभेद (2002); लहूलुहान लोकतन्त्रा (2006); राष्ट्रवाद का संकट (2014) देश-दुनिया की कुछ भाषाओं में कुछ कविताओं के अनुवाद भी हुए हैं। कुछ पुरस्कार भी मिले जिनमें उल्लेखनीय हैंµ शमशेर सम्मान (2011) और बनारसी प्रसाद ‘भोजपुरी’ सम्मान (1994)।

Books by MADAN KASHYAP

Customer Reviews

No review available. Add your review. You can be the first.

Write Your Own Review

How do you rate this product? *

           
Price
Value
Quality