TEES BARAS BAAD : MAIN

Format:Hard Bound

ISBN:978-93-5072-623-5

Author:HASAN JAMAL

Pages:128

MRP:Rs.250/-

Stock:In Stock

Rs.250/-

Details

तीस बरस बाद : मैं

Additional Information

--- मौलिक दृष्टि का परिचायक ‘तीस बरस बाद : मैं’ --- लेखक हसन जमाल के पास कहानी को कहने का अपना एक अलग निजी मुहावरा है। चीजों को नये ढंग से देखने का तरीका और अपने आसपास घटने वाली घटनाओं और चरित्रों को वे जिस किस्सागोई अन्दाज़ में अभिव्यक्त करते हैं, वह उनकी अपनी मौलिक दृष्टि का परिचायक है। हसन जी हमारे आसपास की कहानी लिखते हैं। न कोई बड़े दावे, न फ़तवे, न लादे गये निर्णय और न किसी आन्दोलन से सीधा जुड़ाव। परिवार, समाज, राजनीति, छूत-अछूत, घात-प्रतिघात, प्रेम या तात्कालिक कोई समस्या जो समाज को विचलित किये हुए हो, हसन जी कहानियों के विषय होते हैं। किसी विचार के आवरण से परे वो ठोस जीवन को आधार बनाते हैं, यही उनके लेखन की विशेषता है। वाणी प्रकाशन से प्रकाशित लेखक हसन जमाल द्वारा लिखा गया कहानी संग्रह ‘तीस बरस बाद : मैं’ आप सभी के समक्ष प्रस्तुत है। तीस बरस बाद : मैं | हसन जमाल | कहानी संग्रह | ISBN : 978-93-5072-623-5 | सजिल्द संस्करण | मूल्य 250 रुपये

About the writer

HASAN JAMAL

HASAN JAMAL जन्म : 21 अगस्त 1942, जोधपुर (राजस्थान) भाषा : हिंदी विधाएँ : उपन्यास, कहानी मुख्य कृतियाँ कहानी संग्रह : अंश-अंश-दंश, आबगीना, तीसरा सफर, यह फै़सला किसका था, चश्मदीद मुजरिम बालकथा संग्रह : अनाथ, बालिश्तभर दर्द बाल उपन्यास : दीनू की दुनिया सम्मान राजस्‍थान साहित्‍य अकादमी उदयपुर द्वारा रांगेय राघव कथा पुरस्कार संपर्क पन्ना निवास के सामने, लोहारपुरा, जोधपुर-342002 (राजस्‍थान)

Books by HASAN JAMAL

Customer Reviews

No review available. Add your review. You can be the first.

Write Your Own Review

How do you rate this product? *

           
Price
Value
Quality