KHUD PAR NIGRANI KA WAQT

Format:Paper Back

ISBN:978-93-5072-963-2

Author:CHANDRAKANT DEVTALE

Pages:148

MRP:Rs.150/-

Stock:Out of Stock

Rs.150/-

Details

ख़ुद पर निगरानी का वक़्त

Additional Information

कविता लिखने की पाँच दशक से भी लम्बी यात्रा में संवेदना और विवेक के अनेक पड़ावों से होते हुए चन्द्रकान्त देवताले अब ‘भाषा’ की उस ‘धरती’ पर आ पहुँचे हैं जहाँ से वे अपने आसपास से लेकर दूर-दूर तक की समकालीन दुनिया की दशा-दिशा पर पैनी नजश्र गड़ाये रखने के साथ-साथ ‘ख़ुद पर भी निगरानी’ रखे हुए हैं और एक बेहद सजग कवि के रूप में कभी ‘खामोशी में दुबके हुए/औरतों-बच्चों और नदियों के आँसुओं का अनुवाद’ कर रहे हैं तो कभी ‘अन्तिम साँस तक डोंडी पीटने’ की जिश्म्मेदारी निभा रहे हैं। भूमंडलीकरण और आवारा पूँजी के साम्राज्यवाद के सामने यह देवताले की कविता का नया आयाम और उसकी नयी भूमिका है। एक दौर में जिस कवि ने ‘चन्द्रमा को गिटार की तरह बजाने’ और ‘आकाश के एक टुकड़े को टोपी की तरह पहनने’ की ख़्वाहिश की हो, उसकी कविता की आवाजश् पिछले कुछ वर्षों में ज्यादा प्रत्यक्ष-बेबाक, ज्यादा सामाजिक और ज्यादा राजनीतिक हुई है और यह संग्रह उसी का एक गुणात्मक विस्तार है। यहाँ समकालीन समय के सियासी-समाजी हादसों, अन्यायों और दुखों की गहरी शिनाख़्त तो है, सत्ता और शक्ति की विभिन्न आक्रामक संरचनाओं के विरुद्ध ‘चीखते रहने’ की कवि-नियति का सहर्ष स्वीकार भी है।

About the writer

CHANDRAKANT DEVTALE

CHANDRAKANT DEVTALE जौलखेड़ा (जिला बैतूल), मध्य प्रदेश में 7 नवम्बर 1936 को जन्म। प्रारंभिक शिक्षा बड़वाह तथा इंदौर में। होल्कर कॉलेज, इंदौर से हिन्दी साहित्य में एम.ए.। सागर विश्वविद्यालय से मुक्तिबोध पर 1984 में पीएच.डी.। 1961 से 1996 तक उच्च शिक्षा विभाग, मध्य प्रदेश शासन के तहत पन्ना, भोपाल, उज्जैन, पिपरिया, राजगढ़, रतलाम, नागदा तथा इन्दौर के कॉलेजों में अध्यापन। शासकीय कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय, इन्दौर में हिन्दी विभागाध्यक्ष तथा डीन, कला संकाय, देवी अहिल्याबाई विश्वविद्यालय, इन्दौर के पदों से सेवा निवृत्ति के बाद स्वतंत्र लेखन तथा पत्रकारिता। दैनिक भास्कर, इंदौर में छह वर्षों तक नियमित स्तंभ लेखन।

Customer Reviews

No review available. Add your review. You can be the first.

Write Your Own Review

How do you rate this product? *

           
Price
Value
Quality