Samkaleen Alochana-Vimarsh

Format:Hard Bound

ISBN:978-93-5229-271-4

Author:Avadhesh Kumar Singh

Pages:168

MRP:Rs.395/-

Stock:In Stock

Rs.395/-

Details

वीसवीं सदी की आलोचना में अनेक नए आलोचना सम्प्रदायों और सिद्धान्तों की स्थापना हुई। आधुनिकतावाद, उत्तराधुनिकतावाद, उत्तरउपनिवेशवाद और पराधुनिकतावाद (आल्टर-मॉडर्निज्श्म) आदि ने समकालीन आलोचना विमर्श को प्रभावित किया। भारतीय आलोचना विमर्श भी इससे अछूता न रहा। पर दोनों परम्पराओं के बीच संवाद असम धरातल पर था क्योंकि उत्तरउपनिवेशकाल में भी भारतीय मनीषा को ज्ञानमीमांसात्मक उपनिवेश से मुक्ति नहीं मिली थी। परिणामस्वरुप भारतीय तथा तुलनात्मक परिप्रेक्ष्य एवं प्रारूपों की अनदेखी कर अध्ययन किए गए। प्रस्तुत पुस्तक तुलनात्मक सन्दर्भ में समकालीन आलोचना विमर्श के विविध पहलुओं की समीक्षा करती है और भारतीय सांस्कृतिक यथार्थ, अनुभव और अभिव्यक्ति के सांचे में परखते हुए उनके विकल्पों और प्रारूपों को तलाशती है।

Additional Information

No Additional Information Available

About the writer

Avadhesh Kumar Singh

Avadhesh Kumar Singh जन्म: 1960 आरम्भिक अध्यापन: स्कूल ऑफष् स्टडीज इन इंग्लिश, विक्रम विश्वविद्यालय संस्थापक अध्यक्ष, डिपार्टमेंट ऑफष् इंग्लिश एंड कम्पेरेटिव लिटरेरी स्टडीज, सौराष्ट्र विश्वविद्यालय। देश-विदेश के अनेक विश्वविद्यालयों में अध्यापन। 1993 से इंग्लिश एंड कम्पेरेटिव लिटरेचर तथा 2011 से ट्रांसलेशन स्टडीज के प्रोफ़ेसर। कुलपति, डॉ. बाबासाहेब आम्बेडकर मुक्त विश्वविद्यालय, अहमदाबाद 2006-2009। संस्थापक संयोजक, नॉलेज कंसोर्टियम ऑफष् गुजरात, गुजरात सरकार 2010-2011। निदेशक, अनुवाद अध्ययन एवं प्रशिक्षण विद्यापीठ, इन्दिरा गाँधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय, दिल्ली 2011-2014। सम्प्रति: इन्दिरा गाँधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी में ट्रांसलेशन स्टडीज के प्रोफष्ेसर, और औरो यूनिवर्सिटी में तुलनात्मक एवं अन्तरानुशासनिक अध्ययन के ऑनरेरी प्रोफष्ेसर। प्रकाशन: पन्द्रह पुस्तकें और 160 शोधपत्रा। नवीनतम प्रकाशन ‘रीविजिटिंग लिटरेचर, क्रिटिसिज्म एंड एस्थेटिक्स इन इंडिया’। 150 से अधिक राष्ट्रीय और अन्तरराष्ट्रीय परिसंवादों में बीज वक्तव्य। सम्पादक, आलोचनात्मक पत्रिका ‘क्रिटिकल प्रैक्टिस’ (1994 से)। सीरीज एडिटर, टेलर एंड फ्रांसिस, रूटलेज की ‘क्रिटिकल डिस्कोर्स इन साउथ एशिया’ ।

Books by Avadhesh Kumar Singh

Customer Reviews

No review available. Add your review. You can be the first.

Write Your Own Review

How do you rate this product? *

           
Price
Value
Quality