PARIKSHA GURU

Format:Hard Bound

ISBN:978-93-5229-563-0

Author:LALA SHRINIVAS DAS

Pages:176

MRP:Rs.150/-

Stock:In Stock

Rs.150/-

Details

परीक्षा गुरु

Additional Information

‘परीक्षा गुरु' हिन्दी की एक स्थायी निधि है। इसे हम हिन्दी उपन्यास के डेढ़ सौ वर्षों के सफ़र में एक मील का पत्थर कह सकते हैं। जिन दिनों उपन्यास तिलस्मी, ऐयारी और अन्य तरह की चामत्कारिक घटना-बहुल शैली में लिखा जाता था, और उसमें व्यक्ति और समाज के आन्तरिक संघर्षों और समस्याओं पर नहीं, ऊहात्मक कल्पनाप्रवण ऐन्द्रजालिक वातावरण की सृष्टि पर ज्यादा ध्यान दिया जाता था, उन दिनों लाला श्रीनिवास दास का ‘परीक्षा गुरु' प्रकाशित हुआ, जिसमें जीवन की समस्याओं से मुख मोड़ कर तिलस्मी गुहा-कोटरों में शरण लेने की प्रवृत्ति का एकदम अभाव था। उन्होंने अंग्रेज़ियत और उसके बढ़ते हुए विषैले प्रभाव में घुटती हुई भारतीयता की सुरक्षा की समस्या को सामने रखा। इस प्रकार की समस्यानुकूल कथा-वस्तु के चयन और उसके उपस्थापन के अद्भुत साहस के लिए श्रीनिवास दास की जितनी भी प्रशंसा की जाय, थोड़ी है। परीक्षा गुरु' उपन्यास की सबसे बड़ी विशेषता यही है कि उसने हिन्दी उपन्यास की जीवनहीन एकरस चमत्कार-बहल कथा-परम्परा को तोड़कर यथार्थवादी वस्तु को ग्रहण किया। परीक्षा गुरु' का लेखक सामाजिक सुधार को साहित्य का प्रमुख प्रयोजन मानता है। इसी सोद्देश्यता के कारण यह उपन्यास तत्कालीन अन्य उपन्यासों से बिल्कुल भिन्न हो गया है।

About the writer

LALA SHRINIVAS DAS

LALA SHRINIVAS DAS जन्म : 1850, मथुरा (उत्तर प्रदेश) भाषा : हिन्दी विधाएँ : उपन्यास, नाटक मुख्य कृतियाँ - उपन्यास : परीक्षा गुरु नाटक : प्रह्लाद चरित्र, तप्ता संवरण, रणधीर और प्रेम मोहिनी और संयोगिता स्वयंवर। निधन : 1887 विशेष : हिन्दी, उर्दू, संस्कृत, फारसी और अंग्रेजी आदि भाषाओं पर समान अधिकार रखनेवाले लाला श्रीनिवास दास को हिन्दी में आधुनिक ढंग का पहला उपन्यास लिखने का गौरव प्राप्त है। ‘परीक्षा गुरु’ नाम का यह उपन्यास 25 नवम्बर, 1885 को प्रकाशित हुआ। लाला श्रीनिवास दास भारतेन्दु युग के चर्चित लेखकों में से एक हैं। उपन्यास के अतिरिक्त नाटक के क्षेत्र में भी उन्हें भरपूर ख्याति मिली। उनकी भाषा और शैली पर अंग्रेजी तथा उर्दू, फारसी का पर्याप्त प्रभाव है

Books by LALA SHRINIVAS DAS

Customer Reviews

No review available. Add your review. You can be the first.

Write Your Own Review

How do you rate this product? *

           
Price
Value
Quality