ANYA HOTE HUE

Format:Hard Bound

ISBN:81-8143-617-2

Author:ED. NANDKISHOR AACHARYA

Pages:88

MRP:Rs.125/-

Stock:In Stock

Rs.125/-

Details

No Details Available

Additional Information

No Additional Information Available

About the writer

ED. NANDKISHOR AACHARYA

ED. NANDKISHOR AACHARYA जन्म: 31 अगस्त 1945, बीकानेर। सरकारी रिकॉर्ड में 19 अगस्त 1944। शिक्षा: एम.ए. (इतिहास एवं अंग्रेजी साहित्य), पी-एच.डी. (इतिहास)। व्यवसाय: एवरीमेंस वीकली में पत्रकारिता। स्कूल में अध्यापन एवं प्रौढ़ शिक्षण के साथ 1978 से रामपुरिया कॉलेज, बीकानेर में इतिहास के अध्यक्ष। साहित्यिक पत्रकारिता: कविता द्वैमासिक का सम्पादन, नया प्रतीक में सहायक सम्पादक। प्रकाशन कविता: जल है जहाँ, वह एक समुद्र था, शब्द भूले हुए, आती है जैसे मृत्यु, कविता में नहीं है जो; इसके अतिरिक्त अज्ञेय द्वारा सम्पादित चौथा सप्तक एवं अन्य कई संकलनों में कविताएँ सम्मिलित। नाटक: देहान्तर (मिमिदम् यक्षम् सहित), पागलघर (जूते सहित), गुलाम बादशाह (हस्तिनापुर सहित)। आलोचना: अज्ञेय की काव्य-तितीर्षा, रचना का सच, सर्जक का मन, अनुभव का भव। अन्य: संस्कृति का व्याकरण, आधुनिक विचार और शिक्षा, परम्परा और परिवर्तन, सभ्यता का विकल्प, दि कल्चरल पॉलिसी ऑफ दि हिन्दूज, पॉलिटी इन शुक्र- नीतिसार। अनुवाद: सुनते हुए बारिश - रियोकान, नव मानववाद, विज्ञान और दर्शन - एम.एन. राय। इसके अतिरिक्त जोसेफ ब्रॉड्स्की, लोर्का एवं आधुनिक अरबी कविता के अनुवाद। ब्लादिमीर होलन एवं अन्य कई आधुनिक कवियों का भी अनुवाद। वाग्देवी पॉकेट बुक्स के अन्तर्गत अज्ञेय की कहानियों और निबन्धों और भवानीप्रसाद मिश्र की कविताओं के प्रतिनिधि चयन के अतिरिक्त शीन. काफ़. निज़ाम के साथ उर्दू शायरों (वज़ीर आगा, कुमार पाशी एवं मख़मूर सईदी) की प्रतिनिधि शायरी का और महात्मा गांधी अन्तरराष्ट्रीय हिंदी वि.वि. के लिए ‘अज्ञेय संचयिता’ का सम्पादन। अन्य सन्दर्भ: मीरा पुरस्कार, बिहारी पुरस्कार, भुवनेश्वर पुरस्कार एवं राजस्थान संगीत नाटक अकादमी अवार्ड से सम्मानित। वत्सल निधि के न्यासी मंडल के सदस्य।

Customer Reviews

No review available. Add your review. You can be the first.

Write Your Own Review

How do you rate this product? *

           
Price
Value
Quality