Panchwan Sahibzada

Format:Hard Bound

ISBN:978-93-8788-945-3

Author:BALDEV SINGH & TRANSLATED BY DR.JASVINDER KAUR BINDRA

Pages:414

MRP:Rs.795/-

Stock:In Stock

Rs.795/-

Details

बलदेव सिंह भाई जैताजी ने ऐसे कर्मठ, शूरवीर और पूर्ण रूप से गुरुघर को समर्पित बहादुर योद्धा और गुरुजी के मित्र, स्नेही सखा और सहयोगी सेवक को ‘पाँचवाँ साहिबज़ादा’ से सम्बोधित कर उन्हें श्रद्वांजलि देते हुए उनकी जीवन गाथा को सरल और रसभरी शैली के माध्यम से उपन्यास रूप में प्रस्तुत किया है। आशा है कि हिन्दी पाठकों को यह उपन्यास अवश्य पसन्द आयेगा और सिख धर्म के अन्य शूरवीरों और शख़्सियतों को जानने के लिए भी प्रेरित करेगा।

Additional Information

No Additional Information Available

About the writer

BALDEV SINGH & TRANSLATED BY DR.JASVINDER KAUR BINDRA

BALDEV SINGH & TRANSLATED BY DR.JASVINDER KAUR BINDRA जन्मतिथि: 11 दिसम्बर 1942 शिक्षा: एम. ए. पंजाबी, पटियाला यूनिवर्सिटी, बी. एड., चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी पंजाबी के विशिष्ट व विभिन्न विधाओं में लिखने वाले साहित्यकार। लगभग पचास पुस्तकों के रचयिता, जिनमें 13 उपन्यास, 10 कहानी संग्रह, गद्य की 3 पुस्तकें, 9 नाटक, 3 यात्रा वृत्तान्त, 5 पुस्तकें बाल साहित्य के साथ, साहित्यिक आत्मकथा-2 पुस्तकें तथा नेशनल बुक ट्रस्ट व साहित्य अकादेमी से तीन पुस्तकों का अनुवाद भी शामिल हैं। ‘अन्नदाता’उपन्यास भारतीय ज्ञानपीठ द्वारा हिन्दी में तथा अंग्रेजी में पंजाबी यूनिवर्सिटी पटियाला से प्रकाशित। लम्बे अर्से तक ‘सड़कनामा व ‘लालबत्ती’ उपन्यास गद्य पुस्तकों के कारण चर्चित रहे। मैक्सिम गोर्की अवार्ड, दिल्ली अकादमी, बलराज साहनी पुरस्कार, नानक सिंह अवार्ड, कर्त्तार सिंह धालीवाल तथा अनेक महत्त्वपूर्ण पुरस्कारों सहित ‘तोड़ो दिल्ली के कंगूरे’ (2011) पर साहित्य अकादेमी पुरस्कार से सम्मानित। विभिन्न विधाओं पर निरन्तर लेखन। वाणी प्रकाशन से शीघ्र प्रकाश्य अन्य तीन उपन्यास-पाँचवाँ साहिबज़ादा, महाबली सूरा, महाराजा रणजीत सिंह। सम्पर्क: 19/374, कृष्णा नगर, मोगा-142001 (पंजाब) मोबाइल: 09814783069

Books by BALDEV SINGH & TRANSLATED BY DR.JASVINDER KAUR BINDRA

Customer Reviews

No review available. Add your review. You can be the first.

Write Your Own Review

How do you rate this product? *

           
Price
Value
Quality