Bhool Pata Nahin : Mere Chuninda Geet

Format:Hard Bound

ISBN:978-93-8868-410-1

Author:DR. RAMESH POKHRIYAL

Pages:204

MRP:Rs.595/-

Stock:In Stock

Rs.595/-

Details

इस संग्रह में डॉ. रमेश पोखरियाल ‘निशंक' के अनेक प्रकाशित काव्य संग्रहों के चुनिन्दा गीत समाहित किये गये हैं। साथ ही कुछ गीत ऐसे भी हैं जो प्रकाशित नहीं हुए हैं। आज मनुष्य के जीवन में आनन्द सूखता सा जा रहा है। ‘निशंक' के इन गीतों में जहाँ समाज की विसंगतियाँ, उसकी जटिलताएँ तथा उनकी विषमताओं से उपजी कुण्ठा रूपायित हुई है तो वहीं दूसरी ओर मनुष्य की एकान्तिकता और उसे आनन्द देने वाले सुकोमल क्षणों की रसधारा सी बहती हुई भी प्रतीत होती है। इन गीतों में जन सामान्य की अपेक्षा-आकांक्षा, आशा-निराशा, दुख-दर्द तथा उसके संघर्ष को शब्दों में सँजोकर वाणी प्रदान की गयी है। प्रेरणा, प्रणय और देशभक्ति के इन गीतों की रसधार निश्चित रूप से आपको उद्वेलित, आनन्दित और प्रेरित करेगी।

Additional Information

No Additional Information Available

About the writer

DR. RAMESH POKHRIYAL

DR. RAMESH POKHRIYAL मूल नाम : डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक जन्म : 15 अगस्त 1959, पिनानी , पौड़ी गढ़वाल तत्कालीन (उत्तराखण्ड) भाषा : हिंदी विधाएँ : कविता संग्रह, कथा संग्रह, पत्र-संकलन, उपन्यास मुख्य कृतियाँ कविता संग्रह- समर्पण; नवाकुर, मुझे विधाता बनना है, तुम भी मेरे साथ चलो; मातृभूमि के लिए; जीवन पथ में; कोई मुश्किल नहीं; प्रतीक्षा; ए वतन तेरे लिए कथा संग्रह- रोशनी की एक किरण; बस एक ही इच्छा; क्या नहीं हो सकता; भीड़ साक्षी है; खडे़ हुए प्रश्न; विपदा जीवित है; एक और कहानी; मेरे संकल्प पत्र-संकलन- मेरी व्यथा-मेरी कथा उपन्यास- निशान्त, मेजर निराला; बीरा; पहाड़ से ऊंचा संपर्क 37/1 विजय कॉलोनी, रवीन्द्र नाथ टैगोर मार्ग, देहरादून, उत्तराखण्डर ई-मेल nishankramesh@gmail.com

Customer Reviews

No review available. Add your review. You can be the first.

Write Your Own Review

How do you rate this product? *

           
Price
Value
Quality