Prabhat Khabar | Ardhvritt : Shailpriya Srijan Samagra by Edited by Vidyabhooshan


    Date: 30-8-2018


    “शैलप्रिया जी की कविताओं की सबसे बड़ी ख़ासियत है कि वह अपने 'मैं' को स्त्री-विमर्श के दायरे में कैद नहीं होने देती हैं। लेकिन स्त्री के दुख को निरंतर कविता में दर्ज करती है।”


    << Back to Media News List