DR.TRIBHUVAN RAI

जन्म: सन् 1936, तत्कालीन जिला बनारस (अब-भदोही) के मूसी-बृजराजपुर (उ.प्र.) के ठेठ किसान परिवेश में। शिक्षा: एम.ए., पीएच.डी. जीवनवृत्ति: अध्यापन पूर्व उपप्राचार्य एवं हिन्दी विभागाध्यक्ष, गुरुनानक खालसा कॉलेज, माटुंगा, मुम्बई-400019 स्नातकोत्तर व्याख्याता, मुम्बई विश्वविद्यालय तथा मानद आचार्य एवं शोध-निर्देशक (हिन्दी)। सम्मान एवं पुरस्कार: अनेक राष्ट्रीय सामाजिक-सांस्कृतिक संस्थानों द्वारा समय-समय पर पुरस्कृत एवं सम्मानित। प्रकाशित कृतियाँ: ध्वनि सिद्धान्त और हिन्दी के प्रमुख आचार्य, ध्वन्यालोक और आनन्दवर्धन, ध्वनि सिद्धान्त: प्रतिपक्ष और विकास, भारतीय काव्य सिद्धान्त एवं काव्य मीमांसा, समकालीन काव्य बोध, काव्य चिन्तन: विविध आयाम। इसके अलावा अनेक पुस्तकों का सम्पादन एवं इतर लेखन। सम्प्रति: शोध-निर्देशन एवं स्वतन्त्रा लेखन। सम्पर्क: 2/सी-6, सेक्सरिया कम्पाउंड, मुकुन्द जाधव मार्ग, परेल विलेज, मुम्बई-400012 मो.: 09323737551

DR.TRIBHUVAN RAI