Ashok Singh

अशोक सिंह उत्तर प्रदेश, भारत में जन्म। अशोक हिन्दी भाषा एवं साहित्य से सम्बन्धित विश्व की विभिन्न संस्थाओं से जुड़े रहे हैं। 'तरंग काव्य-गोष्ठी' के नाम से स्थानीय काव्य-गोष्ठी के आयोजन के अतिरिक्त, अनेक वर्षों तक भारत से आमन्त्रित शीर्ष कवियों को लेकर कवि-सम्मेलनों का सफल आयोजन एवं प्रबन्धन करते रहे हैं। भाषा एवं साहित्य की त्रैमासिक पत्रिका 'विश्वा' के सम्पादक मण्डल में भी रहे हैं। पिछले नौ वर्षों से अधिक, अपने आपमें अनूठे, अविरत गूगल व फेसबुक ब्लॉग 'ई काव्य' में प्रसिद्ध कवियों की 2400 से अधिक चुनिन्दा हिन्दी कविताएँ, गज़लें व नज्में प्रकाशित की हैं। अशोक की काव्य–विधा भावों से ओत-प्रोत होते हुए, गहन चिन्तन और भाषा की सुन्दरता को भरपूर उजागर करती है, चाहे वो हिन्दी में लिखे हुए गीत काव्य हों या फिर उर्दू की गज़ल या नज़्म। लेखन की ऐसी बारीकी और मेयारी ने ही अदब और साहित्य के दायरे में उनकी अपनी खास पहचान बनायी है। अशोक ने रुड़की विश्वविद्यालय (अब आई.आई.टी.) से इंजीनियरिंग में स्नातक और न्यूयॉर्क से कम्प्यूटर विज्ञान में स्नातकोत्तर शिक्षा प्राप्त की है। इस समय वे अमेरिका की प्रतिष्ठित कम्पनी आई.बी.एम. में वरिष्ठ सूचना प्रौद्योगिकी पद पर कार्यरत हैं। प्रकाशित कृतियाँ : ‘फिर वसन्त आये...' काव्य-संग्रह (वाणी प्रकाशन); 'काव्य तरंग : अमेरिका में बसे हुए भारतीय कवियों की चुनिन्दा कविताएँ' का सम्पादन (वाणी प्रकाशन)।

Ashok Singh

Books by Ashok Singh