Dr. Sharankumar Limbale, Dr. Jibhao Sa. More

1 जून, 1956 को जन्मे डॉ. शरणकुमार लिंबाले ने एम.ए. , पीएच.डी. की शिक्षा प्राप्त की है। ‘अक्करमाशी’ (आत्मकथा) , ‘‘छुआछूत’, ‘‘देवता आदमी’, ‘‘दलित ब्राह्मण’ (कहानी संग्रह) , ‘दलित साहित्य का सौन्दर्यशास्त्र’ (समीक्षा) , ‘नरवानर’, ‘हिंदू’, ‘बहुजन’ (उपन्यास) आपकी हिन्दी में प्रकाशित कृतियाँ हैं। आप नासिक (महाराष्ट्र) के यशवंतराव चव्हाण महाराष्ट्र ओपन यूनिवर्सिटी में विद्यार्थी कल्याण विभाग के प्रोफेसर और डायरेक्टर हैं। अनुवादक डॉ. जिभाऊ शा. मोरे का जन्म 1 जून 1970 को हुआ है। सम्प्रति यह स्नातकोत्तर के.जे. सोमैया कला, वाणिज्य एवं विज्ञान महाविद्यालय, कोपरगाँव जिला-अ. नगर (महाराष्ट्र) में एसोसिएट प्रोफेसर तथा हिन्दी विभागाध्यक्ष हैं।

Dr. Sharankumar Limbale, Dr. Jibhao Sa. More

Books by Dr. Sharankumar Limbale, Dr. Jibhao Sa. More