ASHA PRASAD

आशा प्रसाद (1929-2001) का जन्म एवं लालन-पालन बिहार के एक संभ्रान्त परिवार में हुआ । उच्च शिक्षा प्राप्त करने में काफी उनकी रुचि प्रारम्भ से ही थी । 1954 में उन्होनें पटना विश्वविद्यालय से हिन्दी में एम.ए. की डिग्री प्राप्त की। उसके बाद अमेरिका जाकर उन्होनें शिक्षा के क्षेत्र में अध्ययन किया और 1957 में कोलम्बिया विश्वविद्यालय (न्यूयार्क) से इसमें भी एम.ए. की डिग्री प्राप्त की । वहाँ से लौटने के बाद उन्होने पाँच वर्ष तक पटना के मगध महिला कॉलेज में प्राध्यापक का काम किया । पटना से जब वे अपने पति के साथ दिल्ली आईं तब कई साल तक पति और तीन बच्चों की देखभाल ही उनका मुख्य काम हो गया । लेकिन जब बच्चे जब बड़े हो गये तब उन्होनें लेखन की तरफ ध्यान दिया । 1973 में उनकी स्वामी विवेकानन्द की वृहत जीवनी प्रकाशित हुई, जिसका काफी स्वागत हुआ । हाल में, सन 2000 में, इसका अजिल्द प्रकाशन हुआ जिससे यह पुस्तक अधिक लोगों के पास पहुँच सके । इस पुस्तक के बाद वे समय-समय पर धर्मयुग एवं साप्ताहिक हिन्दुस्तान में स्वामी विवेकानन्द, नेताजी सुभाषचन्द्र बोस, जयप्रकाश नारायण एवं प्रभावती पर लेख लिखतीं रही ।नेताजी की जीवनी भी वे साथ-साथ लिख रही थीं, लेकिन लेकिन वह पूरी न हो सकी कि वे चल बसी इस पुस्तक में चर्चित महिलाओं के प्रति उनका आकर्षण धीरे-धीरे इतना बढ़ गया कि नेताजी वाली पुस्तक को अधूरा छोड़कर वे इनके बारे मेंलिखने में लग गईं और अपने अन्तिम समय तक इसी में लगी रहीं ।

ASHA PRASAD

Books by ASHA PRASAD