SHASHI PRABHA SHASTRI

शशिप्रभा शास्त्री रचनात्मक कार्य : उपन्यास :नावें, सीढ़ियाँ, परछाइयों के पीछे, परसों के बाद, क्योंकि, उम्र एक गलियारे की, कर्करेखा, ये छोटे महायुद्ध, खामोश होते सवाल, हर दिन इतिहास, मीनारें, अमलतास। कहानी-संग्रह : धुली हुई शाम, अनुत्तरित, जोड़-बाकी, पतझड़, दो कहानियों के बीच, एक टुकड़ा शांतिरथ, उस दिन भी, चर्चित कहानियाँ। यात्रावृत्त : सागर पार का संसार। रोज़ की तरह (डायरी) प्रकाश्य बाल पुस्तकें : पुल के पार (उपन्यास), आसमान की मेज़ (कहानी संकलन), अँधेरे का सिपाही तथा नीलम देश का जादूगर (उपन्यास) प्रकाश्य। शोधग्रंथ : हिंदी के पौराणिक नाटकों के मूलस्रोत पुरस्कार : सीढ़ियाँ तथा परछाइयों के पीछे उपन्यास (उत्तरप्रदेश हिंदी संस्थान से पुरस्कृत)। दो उपन्यास कन्नड़ में अनूदित-प्रकाशित। कहानियाँ प्रादेशिक भाषाओं तथा अंग्रेज़ी में अनूदित-प्रकाशित। कहानियाँ विश्वविद्यालयों के पाठ्यक्रमों में सम्मिलित। रचनाओं पर शोधकार्य। सम्पर्क : 78 समाचार अपार्टमेंट्स, मयूर विहार-1 (विस्तार), दिल्ली-110091

SHASHI PRABHA SHASTRI

Books by SHASHI PRABHA SHASTRI