BAPSI SIDHWA

अन्तर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त लेखिका बाप्सी सिध्वा अमरीका में रहती हैं, किन्तु समय-समय पर भारतीय उपमहाद्वीप की यात्राएँ करती रहती हैं। उनके पाँच उपन्यास प्रकाशित हो चुके हैं-'एन अमेरिकन', 'बैट क्रैकिंग', 'इण्डिया पाकिस्तानी ब्राइड', 'द क्रो ईटर्स' और ‘आइस-कैण्डी-मैन'। इन सभी उपन्यासों का जर्मन, फ्रेंच, इतावली और रूसी भाषाओं में अनुवाद हो चुका है। अनेक सम्मानों से अलंकृत बाप्सी सिध्वा को 1994 में लीला वालेस रीडर्स डाइजेस्ट राइटर्स अवार्ड से सम्मानित किया गया। 1994 में ही उन्हें 'यू.एस. नेशनल एंडोमेट फ़ार द आर्ट्स ग्रांट' प्रदान किया गया। पाकिस्तान सरकार ने कला क्षेत्र में विशेष उपलब्धियों के लिए उन्हें नागरिक सम्मान 'सितारा-ए-इक्तियाज़' से अलंकृत किया। उन्हें प्रतिष्ठित 'प्रीस पुरस्कार' से भी सम्मानित किया गया। सिध्वा रेडकील हार्वर्ड' द्वारा प्रतिष्ठित बंटिंग फैलोशिप दी गई। सिध्या पाकिस्तान की पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो के प्रधानमंत्रित्व काल में महिला विकास सम्बन्धी सलाहाकार समिति की सदस्य रहीं। उन्होंने कोलम्बिया विश्वविद्यालय, ह्यूस्टन विश्वविद्यालय और होल्योक कॉलेज में अध्यापन कार्य किया। आजकल ये बैडीस विश्वविद्यालय में कार्यरत हैं। 'आइस-कैण्डी-मैन (न्ययार्क टाइम्स द्वारा चयनित वर्ष की 'उल्लेखनीय पस्तक और क्वालिटी पेपर बुक क्लब द्वारा चुनी 'गई श्रेष्ठ पुस्तक का कनाडा की प्रसिद्ध फिल्म निदेशिका दीपा 'मेहता ने 1947 में 'अर्थ' नाम से फिल्मी पर्दे पर उतारा।

BAPSI SIDHWA

Books by BAPSI SIDHWA