VIJAY RANCHAN

जन्म लाहौर और बचपन शिमला में बीता, अंग्रेजी साहित्य में स्नातकोत्तर फिर भारतीय प्रशासनिक सेवा में। विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में भारतीय चित्रकला पर अनेक शोधपरक लेख व टिप्पणियाँ प्रकाशित। हिन्दी साहित्य का सिनेमाकरण' पर विस्तृत आख्या के साथ 'डिजिटल बुक' का लेखन। भारतीय प्रशासनिक सेवा से सन 2002 में पूर्वावकाश। पली गीता और दो बेटियाँ तषिता और राशिका। सम्प्रति : फिल्म एवं टेलीविजन संस्थान गाँधीनगर से सम्बद्ध एवं पूर्णकालिक रूप से अध्ययन, अध्यापन व लेखन में व्यस्त।

VIJAY RANCHAN

Books by VIJAY RANCHAN