पत्रकारिता इतिहास और प्रश्न

Format:Hard Bound

ISBN:978-93-5072-085-1

लेखक:कृष्णबिहारी मिश्र

Pages:152

मूल्य:रु250/-

Stock:In Stock

Rs.250/-

Details

पत्रकारिता इतिहास और प्रश्न

Additional Information

“हिन्दी पत्रकारिता के आरम्भ के युग में हमारे पत्रकारों की जो प्रतिष्ठा थी, वह आज नहीं है। साधारण रूप से तो यह बात कही जा ही सकती है, अपवाद खोजने चलें तो भी यही पाएँगे कि आज का एक भी पत्रकार या सम्पादक वह सम्मान नहीं पाता जो कि पचास-पचहत्तर वर्ष पहले के अधिकतर पत्रकारों को प्राप्त था। ... आज के सम्पादक-पत्रकार अगर इस अन्तर पर विचार करें तो स्वीकार करने को बाध्य होंगे कि वे न केवल कम सम्मान पाते हैं बल्कि कम सम्मान के पात्र हैं-या कदाचित् सम्मान के पात्र बिलकुल नहीं हैं, जो पाते हैं वह पात्रता से नहीं, इतर कारणों सें। ...अप्रतिष्ठा का प्रमुख कारण यह है कि उसके पास मानदंड नहीं है। यहीं हरिश्चन्द्र कालीन सम्पादक-पत्रकार-या उतनी दूर न जाएँ तो महावीर प्रसाद द्विवेदी का समकालीन भी हम से अच्छा था। उसके पास मानदंड थे, नैतिक आधार थे और स्पष्ट नैतिक उद्देश्य भी। उनमें से कोई ऐसे भी थे जिनके विचारों को हम दकियानूसी कहते, तो भी उनका सम्मान करने को हम बाध्य होते थे क्योंकि स्पष्ट नैतिक आधार पाकर वे उन पर अमल भी करते थे-वे चरित्रवान थे। आज-विचार-क्षेत्र में हम अग्रगामी भी कहला लें, तो कर्म के नैतिक आधारों की अनुपस्थिति में निजी रूप से हम चरित्रहीन ही हैं और सम्मान के पात्र नहीं हैं।"

About the writer

KRISHNA BIHARI MISHRA

KRISHNA BIHARI MISHRA जन्म : 1 जुलाई 1936, बलिहार, बलिया, उत्तर प्रदेश भाषा : हिंदी विधाएँ : निबंध, पत्रकारिता, जीवनी, संस्मरण, संपादन, अनुवाद मुख्य कृतियाँ पत्रकारिता : हिंदी पत्रकारिता : जातीय चेतना और खड़ी बोली साहित्य की निर्माण-भूमि, गणेशशंकर विद्यार्थी, पत्रकारिता : इतिहास और प्रश्न, ललित निबंध संग्रह : बेहया का जंगल, मकान उठ रहे हैं, आँगन की तलाश, अराजक उल्लास, गौरैया ससुराल गया विचार प्रधान निबंध संग्रह : आस्था और मूल्यों का संक्रमण, आलोकपंथा, परंपरा का पुरुषार्थ, माटी महिमा का सनातन राग, न मेधया, भारत की जातीय पहचान : सनातन मूल्य संस्मरण : नेह के नाते अनेक जीवनी : कल्पतरु की उत्सव लीला (रामकृष्ण परमहंस) संपादन : हिंदी साहित्य : बंगीय भूमिका, श्रेष्ठ ललित निबंध, कलकत्ता - 87, नवाग्रह (कविता संकलन), समाधि (त्रैमासिक साहित्यिक पत्रिका) अनुवाद : भगवान बुद्ध (यूनू की पुस्तक का अनुवाद, कलकत्ता विश्वविद्यालय से प्रकाशित) सम्मान मूर्तिदेवी पुरस्कार (भारतीय ज्ञानपीठ) संपर्क 7 बी, हरिमोहन राय लेन, बेलियाघट्टा, कोलकाता - 700 015

Customer Reviews

No review available. Add your review. You can be the first.

Write Your Own Review

How do you rate this product? *

           
Price
Value
Quality