वाल्मीकि की पर्यावरण चेतना-3 जीव जन्तु

Format:Hard Bound

ISBN:978-93-8991-581-5

लेखक:

Pages:248

मूल्य:रु595/-

Stock:In Stock

Rs.595/-

Details

वाल्मीकि की पर्यावरण चेतना-3 जीव जन्तु

Additional Information

जब हम अपने किसी मित्र, सम्बन्धी या सुब्द से मिलते हैं तो सभी का हालचाल पूछते हैं। किसी से मिलकर हम उसके बच्चों, परिवार आदि की ही कुशल पूछते हैं। हम सबने कभी सोचा ही नहीं कि किसी की हाल चाल पूछते समय उस क्षेत्र के वनों, नदियों, तालाबों या वन्यजीवों का समाचार जानने की चेष्टा करें। ऐसा इसलिए है कि अब हम वनों, नदियों, तालाबों या वन्यजीवों को परिवार का अंग मानते ही नहीं। पहले ऐसा नहीं था। उस समय लोग एक दूसरे का समाचार पूछते समय वनों, बागों, जलस्रोतों आदि की भी कुशलता जानना चाहते थे। इसका कारण यह था कि उस समय लोग प्रकृति के विभिन्न अवयवों को परिवार की सीमा के अन्तर्गत ही मानते थे।

About the writer

Mahendra Pratap Singh

Mahendra Pratap Singh महेन्द्र प्रताप सिंह जन्म : 21 दिसम्बर 19601 शिक्षा : एम. एससी. (गणित)। प्रकाशित कृतियाँ : भारतीय वन उपज, भारत के संरक्षित वन, वाल्मीकि की पर्यावरण चेतना (भाग-1, वनस्पतियाँ), मानस में प्रकृति विषयक सन्दर्भ, नारद की भू-यात्रा, अभिव्यक्ति, वन और मन, प्रायश्चित्त, गाँधी और कृष्ण, गीता और कबीर, नारी, जिजीविषा, प्रेम-पथ, तुलसी की अन्तदृष्टि, पांचाली। सम्पादन : श्री रवि गोंड़ के साथ 'समकालीन विमर्श : मुद्दे और बहस' तथा 'जगदीश गुप्त का काव्य : मनन और मूल्यांकन'। प्रकाशनाधीन पुस्तकें : वाल्मीकि की पर्यावरण चेतना (भाग-3, जीव-जन्तु), हमारा पर्यावरण। पुरस्कार/सम्मान : विक्रमशिला हिन्दी विद्यापीठ, गांधीनगर द्वारा विद्या वाचस्पति', पर्यावरण एवं वन मन्त्रालय द्वारा 'मेदिनी' पुरस्कार, हिन्दी साहित्य संस्थान, उत्तर प्रदेश का सौहार्द्र' सम्मान, भारत में मॉरीशस के उच्चायुक्त द्वारा राष्ट्र गौरव सम्मान', राज्य कर्मचारी साहित्य परिषद, उत्तर प्रदेश का ‘पण्डित विद्यानिवास मिश्र पुरस्कार', 'कादम्बरी' संस्था, जबलपुर द्वारा ‘स्व. श्री नर्मदा प्रसाद खरे पुरस्कार', जेमिनी संस्थान, पानीपत, हरियाणा द्वारा 'हिन्दी सेवी सम्मान', गीतांजलि फाउंडेशन द्वारा 'डॉ. जगदीश गुप्त' सम्मान, इत्यादि। सम्पर्क : टाईप-5/ए-5, वन विभाग कालोनी, विभूतिखण्ड, गोमतीनगर, लखनऊ मोबाइल : 7839435383, 9559282250 E-mail: mahendrapratapsingh1960@gmail.com

Customer Reviews

No review available. Add your review. You can be the first.

Write Your Own Review

How do you rate this product? *

           
Price
Value
Quality