21 VIN SADI KA VIGYAN: KHAGOL VIGYAN

Format:Hard Bound

ISBN:978-93-5072-492-7

Author:DEVENDRA PRASAD VERMA

Pages:218

MRP:Rs.300/-

Stock:Out of Stock

Rs.300/-

Details

लोकोपयोगी विज्ञान विश्वकोश माला का यह पुष्प ज्योतिर्विज्ञान अर्थात् खगोलिकी से संदर्भित है। इस विषय के अन्तर्गत ब्रह्मांड का अध्ययन किया जाता है। इस तरह हम कह सकते हैं कि मनुष्य अपने विकास-क्रम में बौद्धिक रूप से इतना विकसित हो गया, कि सूरज-चाँद-सितारों की भूमिका अपने जीवन में और दुनिया के संचालन-क्रम में थोड़ी-बहुत भी समझ सका, इस विज्ञान का जन्म तभी हो गया था। तब घड़ी नहीं थी, कुतुबनुमा नहीं था, दिशाओं का ज्ञान उसे नहीं था, दिन-रात कैसे होते हैं, समय का अनुमान कैसे किया जा सकता है, आदि रहस्यों को जाना। फिर तो दिशा में मनुष्य के डग बढ़ते ही रहे।

Additional Information

No Additional Information Available

About the writer

DEVENDRA PRASAD VERMA

DEVENDRA PRASAD VERMA

Customer Reviews

best books

12345
best
Quality
Price
Value

Write Your Own Review

How do you rate this product? *

           
Price
Value
Quality