BREAKING NEWS

Format:Paper Back

ISBN:978-81-906-409-6-1

Author:PUNYA PRASUN VAJPAI

Pages:144


MRP : Rs. 200/-

Stock:In Stock

Rs. 200/-

Details

ब्रेकिंग न्यूज

Additional Information

'ब्रेकिंग न्यूज' पुस्तक चर्चित टीवी पत्रकार पुण्य प्रसून वाजपेयी की एक ऐसी पुस्तक है, जिसमें टीवी पत्रकारिता से जुड़े विभिन्न बहसों की चर्चा तो है ही, साथ ही, पत्रकारिता प्रशिक्षण से जुड़े पहलुओं को समझने-समझाने की साफ और ईमानदार कोशिश इसमें दिखाई देती है। अगर आप यह जानना चाहते हैं कि एक आदर्श टीवी रिपोर्टर के क्या गुण होने चाहिए, एंकरिंग करते हुए किन बातों का ध्यान रखना चाहिए, टीवी के लिए समाचार लिखते हुए किन बातों का ध्यान रखना चाहिए। किन पहलुओं पर जोर देना चाहिए, 24 घंटे चलने वाला समाचार चैनल किस रूप में काम करते हैं, टीवी पर प्रसारित होने वाले समाचारों के लिए उत्तरदायी कौन होता है, यह माध्यम प्रिंट पत्रकारिता से कितना भिन्न होता है या उसका पूरक होता है- इस तरह की तमाम जिज्ञासाओं को इस पुस्तक में शांत करने की कोशिश की गई है। चूंकि यह पुस्तक एक ऐसे टीवी पत्रकार द्वारा तैयार की गई है, जो इस माध्यम से एकदम आरंभ से ही जुड़े रहे हैं, जिन्होंने उसे जवान होते देखा है और उसके भविष्य को जानने-समझने की कोशिश कर रहे हैं। इसे एक 'इनसाइडर' की 'इनसाइड स्टोरी' की तरह भी पढ़ा जा सकता है।

About the writer

PUNYA PRASUN VAJPAI

PUNYA PRASUN VAJPAI पिछले 17 वर्षों से बतौर पत्रकार देश की सामाजिक-राजनीतिक स्थितियों को टटोलने की प्रक्रिया में। नागपुर से प्रकाशित हिन्दी दैनिक 'लोकमत समाचार' से 1988 में पत्रकार के तौर पर कैरियर की शुरुआत। इस दौर में संडे-आब्जर्वर, संडे मेल, दिनमान और जनसत्ता में लगातार लेखन। साथ ही, राष्ट्रीय हिन्दी दैनिकों में लेखन। इसी दौर में 1995 में 'आदिवासियों पर टाडा' नामक किताब प्रकाशित। 1996 में टी.वी. पत्रकारिता से 'आजतक' के जरिये जुड़ना। 2003 में एनडीटीवी के हिन्दी चैनल 'एनडीटीवी इंडिया' की लाँचिंग टीम में बतौर एंकर विशेष संवाददाता जुड़ना। इस दौरान पहली बार स्टूडियों से बाहर एंकरिग। सीधे जनता के बीच जनता के साथ इंडिया यात्रा कार्यक्रम के माध्यम से किसी विशेष मुद्दे के अलग-अलग पहलओं को पकड़ने का प्रयास। साथ ही, चुनाव के दौरान वोट यात्रा के जरिये। चुनावी जमीन को दिखाने अनूठा प्रयास। टी.वी. पर पहली बार पी.ओ.के. (पाकिस्तान कब्जे वाले कश्मीर) की रिपोर्टिंग साथ ही आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तोएबा के चीफ मोहम्मद । हाफिज सईद का इंटरव्यू। कश्मीर से जुड़े तमाम पहलुओं को टी.वी. रिपोर्ट के जरिये उभारने का प्रयास। इंटरव्यू आधारित कार्यक्रम 'कश्मकश' के जरिये राजनेओं के छुपे पहलुओं को उभारने की अनोखी पहल, टी.वी. के जरिये। बतौर एंकर संसद पर हमले के दौरान 'आजतक' पर बिना 'ब्रेक के लगातार साढ़े चार घंटे की एंकरिंग।। 2004 में पुस्तक 'संसद : लोकतंत्र या नजरों का धोखा' प्रकाशित।

Customer Reviews

No review available. Add your review. You can be the first.

Write Your Own Review

How do you rate this product? *

           
Price
Value
Quality