Bhoutik Vigyan Ka Sahaj Bodh

Format:Hard Bound

ISBN:81-7055-198-6

Author:

Pages:204


MRP : Rs. 395/-

Stock:In Stock

Rs. 395/-

Details

‘लोकोपयोगी विज्ञान विश्वकोश कला’ के अन्तर्गत प्रकाशित यह पुस्तक भौतिक विज्ञान जैसे दुरूह माने जाने वाले विषय को कुछ इस प्रकार सहज बोध बनाकर प्रस्तुत करती है कि वैज्ञानिक रुझान का सामान्य पाठकवर्ग भी इसे पढ़-समझ और सम्बन्धित विषय में रुचि ले सके। रूस के विश्वविख्यात भौतिक विज्ञानी या इ-पेरेकमान ने इसे विज्ञान के नवसाक्षरों की बौद्धिक सीमा को ध्यान में रखकर चुटकलों-कहानियों वाली मनोरंजक शैली में लिखा है। हिन्दी पाठकों के लिए इसे सुलभ कराते हुए, अनुवाद एवं स्वभाव यथावत् बना रहे, ताकि अधिकाधिक हिन्दी समाज इसका भरपूर लाभ उठा सके। सामान्यतया विज्ञान, और विज्ञान में भी भौतिक विज्ञान को गूढ़ और दुरूह विषय माना जाता रहा है। इसीलिए विज्ञान में रुचि रखने वाले सामान्य बोध के पाठक भी प्रायः भौतिक विज्ञान में से एक दूरी बनाये चले आ रहे हैं।

Additional Information

No Additional Information Available

Customer Reviews

No review available. Add your review. You can be the first.

Write Your Own Review

How do you rate this product? *

           
Price
Value
Quality