SIDHI REKHA KI PARTEIN

Format:Hard Bound

ISBN:978-93-5000-103-5

Author:TEJENDRA SHARMA

Pages:276


MRP : Rs. 425/-

Stock:In Stock

Rs. 425/-

Details

सीधी रेखा की परतें

Additional Information

तेजेन्द्र शर्मा उन कथाकारों में से हैं जो विदेश में रहते हुए भी भारतीय जीवन की सच्चाइयों से रू-ब-रू होते रहते हैं और कैंसर, देह की कीमत, एक ही रंग और ढिबरी टाइट जैसी कहानियों से बहरेखीय यथार्थ का आकलन करते हुए कथा-क्षेत्र में नई पहचान बनाते हैं। तेजेन्द्र शर्मा की अंतर्वस्तु विविध है तो शिल्प भी। सादगी में आश्चर्य है, वाचालता नहीं। तेजेन्द्र शर्मा 'लाउड' नहीं होते। मौन और शब्द का अर्थ समझते हैं। कैंसर तेजेन्द्र शर्मा की अर्थ-बहल कहानी है। कैंसर के निहितार्थ अनेक हैं। वे कहानी लिख रहे हैं तो हड़बड़ी में नहीं हैं...! रेडिकल मैसेक्टमी। सपाट छाती। अंत में पूनम का प्रश्न है-'मेरा पति मेरे कैंसर का इलाज तो दवा से करवाने की कोशिश कर सकता है, मगर जिस कैंसर ने उसे चारों ओर से जकड़ रखा है...क्या उसका भी कोई इलाज है?' इस कहानी के बीच में एक वाक्य है-'रात आने का समय तो तय है। अब की बार डर रहे थे कि रात अपने साथ क्या-क्या लाने वाली है। कितनी लम्बी होगी यह रात क्या इस रात के बाद का सवेरा देख पाएँगे?' यह कथन रूपक से अधिक है। लम्बी रात वह कालखंड है जो एक है और अनंत है। तेजेन्द्र शर्मा की कहानियाँ जीवनधर्मी हैं। वे जीवन के गहरे अंधकार में धंसती हैं और जीवन के लिए एक मूल्यवान सत्य बचा लेती हैं। कहानी तेजेन्द्र शर्मा के लिए समय को समय के पार देखने की प्रेरणा देती है। वे वास्तविकता का छद्म नहीं रचते। आभासी यथार्थ के दौर में वे गझिन सूक्ष्मा यथार्थ को व्यक्त करते हैं। तेजेन्द्र शर्मा की गिनी-चुनी कहानियाँ भी उन्हें। महत्त्वपूर्ण कोटि में जगह देने के लिए काफ़ी हैं। फ़िलहाल वे अपने ढंग के अकेले हैं और बगैर किसी तरह की पैरवी के एकाधिक बार पढ़े जाने के योग्य हैं। -परमानंद श्रीवास्तव

About the writer

TEJENDRA SHARMA

TEJENDRA SHARMA तेजेन्द्र शर्मा समकालीन कथा साहित्य में एक चर्चित नाम। जन्म 21 अक्टूबर 1952 को पंजाब के शहर जगरांव के रेलवे क्वार्टरों में दिल्ली विश्वविद्यालय से बी.ए. (ऑनर्स), एम. ए. (अंग्रेज़ी)। कम्प्यूटर अप्लिकेशन्स में डिप्लोमा। 1998 से लंदन में प्रवास। प्रकाशित कृतियाँ : कहानी संग्रह : काला सागर, ढिबरी टाइट, देह की कीमत, यह क्या हो गया! और बेघर आँखें। कविता एवं ग़ज़ल संकलन : ये घर तुम्हारा है। दूरदर्शन के लिए शांति सीरियल का लेखन। तेजेन्द्र शर्मा की कहानियाँ उर्दू, नेपाली, मराठी, उड़िया, गुजराती एवं अंग्रेज़ी में अनूदित हो चुकी हैं। अंग्रेजी में : 1. Black & White (Biography of a Banker), 2. Lord Byron-Don Juan, 3. John Keats-The Two Hyperions. संपादन : समुद्र पार रचना संसार (21 प्रवासी लेखकों की कहानियों का संकलन)। यहाँ से वहाँ तक (ब्रिटेन के कवियों का कविता संग्रह)। विशेष : अन्नू कपूर द्वारा निर्देशित फ़िल्म अभय में अभिनय। बी.बी.सी., आकाशवाणी व दूरदर्शन से कार्यक्रमों की प्रस्तुति, नाटकों में हिस्सेदारी एवं समाचार वाचन। 1995 में 40 वर्ष से कम उम्र के भारतीय कथाकारों के लिए इंदु शर्मा कथा सम्मान की स्थापना। 2000 में इंग्लैंड में रहने वाले हिन्दी लेखकों को सम्मानित करने के लिए पदमानंद साहित्य सम्मान की शुरुआत। कथा (यू.के.) के माध्यम से लंदन में कथा गोष्ठियों, कार्यशालाओं एवं साहित्यिक कार्यक्रमों का नियमित आयोजन लंदन में वापसी के माध्यम से कहानी मंचन की शुरुआत की। ई-मेल : kahanikar@gmail.com

Customer Reviews

No review available. Add your review. You can be the first.

Write Your Own Review

How do you rate this product? *

           
Price
Value
Quality