DIN RAIN

Format:Hard Bound

ISBN:978-93-5072-697-6

Author:VISHWANATH PRASAD TIWARI

Pages:212


MRP : Rs. 395/-

Stock:In Stock

Rs. 395/-

Details

दिन रैन

Additional Information

गद्य की लघु विधाओं में डायरी अपनी एक अर्थवान पहचान बना चुकी है। लगभग सभी भाषाओं में महत्त्वपूर्ण डायरियाँ लिखी गयी हैं। हिन्दी उपन्यासों और कहानियों में एक शिल्प के रूप में इनका प्रयोग होता रहा है पर एक स्वतन्त्र विधा के रूप में इनका लेखन अभी कम ही हुआ है। लेखकों की प्रकृति के अनुसार डायरियों के रूप-रंग में भिन्नता स्वाभाविक है। कुछ डायरियों में किसी का नामोल्लेख नहीं होता। कुछ में वास्तविक तिथियों, घटनाओं और व्यक्तियों का उल्लेख रहता है। कुछ नितान्त काल्पनिक भी होती हैं। प्रस्तुत डायरी में भाषा, साहित्य, समाज, राजनीति आदि के बारे में लेखक का अपना अनुभव और गम्भीर चिन्तन तो है ही कुछ घटनाओं और व्यक्तियों से सम्बन्धित ऐसे तथ्य भी हैं जिनका साहित्यिक-राजनीतिक सन्दर्भो के लिए ऐतिहासिक महत्त्व है। लेखक के अनुसार इन तथ्यों और विवरणों में सत्य का आग्रह है जिनका प्रामाणिक तौर पर उपयोग किया जा सकता है। इस डायरी में कुछ यात्रा प्रसंग भी हैं जो उस स्थान विशेष के इतिहास, भूगोल और परिवेश से सम्बन्धित कई अल्पज्ञात सूचनाएँ प्रस्तुत करते हैं। यह प्रतिदिन लिखी जाने वाली निजी दैनंदिनि नहीं है बल्कि इसमें एक विस्तृत कालखंड का लोकानुभव अत्यन्त संक्षिप्त रूप में लिपिबद्ध है। आशा है पाठक अपनी-अपनी रुचि के अनुसार विश्वनाथ प्रसाद तिवारी की इस कृति का आस्वाद करेंगे।

About the writer

VISHWANATH PRASAD TIWARI

VISHWANATH PRASAD TIWARI जन्म : 20 जून 1940, भेड़िहारी, देवरिया, उत्तर प्रदेश भाषा : हिंदी विधाएँ : कविता, आलोचना, संस्मरण मुख्य कृतियाँ कविता संग्रह : आखर अनंत, चीजों को देखकर, फिर भी कुछ रह जाएगा, बेहतर दुनिया के लिए, साथ चलते हुए, शब्द और शताब्दी आलोचना : आधुनिक हिंदी कविता, समकालीन हिंदी कविता, रचना के सरोकार, कविता क्या है, गद्य के प्रतिमान, आलोचना के हाशिए पर, छायावादोत्तर हिंदी गद्य-साहित्य, नए साहित्य का तर्क-शास्त्र, हजारीप्रसाद द्विवेदी यात्रा-संस्मरण : आत्म की धरती, अंतहीन आकाश संस्मरण : एक नाव के यात्री अन्य : मेरे साक्षात्कार संपादन : दस्तावेज (अनियतकालीन साहित्यिक पत्रिका) सम्मान अंतरराष्ट्रीय पुश्किन पुरस्कार, सरस्वती सम्मान, व्यास सम्मान, साहित्य भूषण सम्मान, हिंदी गौरव सम्मान संपर्क संपादक दस्तावेज, बेतियाहाता, गोरखपुर, उत्तर प्रदेश

Books by VISHWANATH PRASAD TIWARI

Customer Reviews

No review available. Add your review. You can be the first.

Write Your Own Review

How do you rate this product? *

           
Price
Value
Quality