SACH KAHTA HOON

Format:

ISBN:978-93-5000-840-9

Author:HARISH CHANDRA BURNWAL

Pages:


MRP : Rs. 175/-

Stock:In Stock

Rs. 175/-

Details

हिन्दी कहानियों की एक बड़ी लम्बी और समृद्ध परम्परा रही है, लेकिन इस परम्परा में तूफान जैसी स्थिति कभी-कभार ही पैदा हुई है। दशकों में ऐसा हुआ जब कहानियों की पूरी लीक ही बदल गयी हो । पुराने उदाहरणों में न जाएँ तो हरीश चन्द्र बर्णवाल की पुस्तक 'सच कहता हूँ' की प्रत्येक कहानियाँ व्यक्ति के मन-मस्तिष्क को झकझोर कर सोचने-विचारने पर विवश करती हैं। आखिर क्यों एक छोटा बच्चा बलात्कार की इच्छा जताता है ? क्यों एक शख्स ट्रेन हादसे में इनसानों के मरने पर खुश होता है ? कैसे एक पत्रकार की सफलता या कहें संवेदनशीलता पोप के मरने से जुड़ जाती है ? क्यों एक इंसान को तैंतीस करोड़ देवी-देवताओं के चेहरे लुटेरे जैसे नज़र आने लगते हैं । 'सच कहता हूँ' पुस्तक की हर कहानी यथार्थ के धरातल पर लिखी गयी है । अगर कल्पना की दुनिया में हिचकोले लें तो हर कहानी एक-एक युग जीने सरीखी है । चाहे वो अन्धे बच्चों पर लिखी गयी कहानी 'यही मुंबई है' हो या फिर जातिवाद पर प्रहार करती हुई 'अंग्रेज ब्राह्मण और दलित' । पुस्तक में कहानियों का बेजोड़ संग्रह है । चाहे वह बच्चों की बदलती मानसिकता पर सवाल खड़ा करती है । और इसका कारण समाज से पूछती है । नेत्रहीन बच्चों का मायानगरी मुम्बई में अनुभव हो या फिर अपने बेटे की गम्भीर बीमारी के दौरान अस्पताल के कभी न याद करने लायक हालात हों। यही नहीं लघुकथाओं में टेलीविजन मीडिया की अंदरूनी गन्दगी को भी लेखक ने स्पष्टता के साथ प्रस्तुत किया है ।

Additional Information

No Additional Information Available

About the writer

HARISH CHANDRA BURNWAL

HARISH CHANDRA BURNWAL हरीश चन्द्र बर्णवाल का जन्म पश्चिम बंगाल में आसनसोल के पास नियामतपुर में हुआ । दिल्ली विश्वविद्यालय से राजनीति शास्त्र में स्नातक ( टॉपर) और जामिया मिल्लिया इस्लामिया से टेलीविजन पत्रकारिता में स्नातकोत्तर । हरीश चन्द्र बर्णवाल पिछले 10 वर्षों से टेलीविजन पत्रकारिता से जुड़े हैं । आईबीएन 7 से पहले स्टार न्यूज़ में कार्यरत रहे । 'रोजगार की तलाश में' कहानी के लिए हिन्दी अकादमी दिल्ली सरकार द्वारा पुरस्कृत, 'यही मुम्बई है' कहानी के लिए अमृतलाल नगर पुरस्कार। 'चौथा कन्धा' कहानी के लिए कादम्बिनी सम्मान और 'संवेदनहीनता' कहानी के लिए कथादेश पुरस्कार से सम्मानित एवं इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) द्वारा विशिष्ट सम्मान से सम्मानित । वर्तमान में आईबीएन 7 में एसोसिएट एक्जिक्यूटिव प्रोडूयसर हैं ।

Books by HARISH CHANDRA BURNWAL

Customer Reviews

No review available. Add your review. You can be the first.

Write Your Own Review

How do you rate this product? *

           
Price
Value
Quality