Fasak

Format:Paper Back

ISBN:978-935229-679-8

Author:DR. DEVENDRA KUMAR SHARMA

Pages:256


MRP : Rs. 225/-

Stock:In Stock

Rs. 225/-

Details

फसक

Additional Information

समय की नब्ज़ पर उँगली होते हुए भी ‘फसक’ में ज्वलन्त दस्तावेज़ रच देने का बहुप्रतिष्ठित लोभ इतना हावी नहीं है कि क़िस्सागोई पृष्ठभूमि में चली जाए। फसकियों (गपोड़ियों) के इलाके से आनेवाले राकेश तिवारी क़िस्सा कहना जानते हैं। जिन लोगों ने ‘कठपुतली थक गयी’, ‘मुर्गीखाने की औरतें’, ‘मुकुटधारी चूहा’ जैसी उनकी कहानियाँ पढ़ी हैं, उन्हें पता है कि इस कथाकार की पकड़ से न समय की नब्ज़ छूटती है, न पाठक की। राकेश की खास बात है, इस चीज़ की समझ कि वाचक की बन्द मुट्ठी लाख की होती है और खुलकर भी खाक की नहीं होती बशर्ते सही समय पर खोली जाए। थोड़ा बताना, थोड़ा छुपा कर रखना, और ऐन उस वक़्त उद्घाटित करना जब आपका कुतूहल सब्र की सीमा लाँघने पर हो- यह उनकी क़िस्सागोई का गुर है। इसके साथ चुहलबाज़ भाषा और व्यंग्यगर्भित कथा-स्थितियाँ मिलकर यह सुनिश्चित करती हैं कि एक बार उठाने के बाद आप उपन्यास को पूरा पढ़कर ही दम लें।

About the writer

Rakesh Tiwari

Rakesh Tiwari उत्तराखंड के गरमपानी (नैनीताल) में जन्म। एक समय सारिका, धर्मयुग, रविवार, साप्ताहिक हिन्दुस्तान से लेकर तमाम पत्र-पत्रिकाओं में कहानियों के प्रकाशन के साथ चर्चित। लम्बी खामोशी के बाद फिर से कथा-लेखन में सक्रिय और इधर विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित कहानियों से फिर चर्चा में। कुछेक कहानियों का अन्य भारतीय भाषाओं में अनुवाद। एक कहानी पर फिल्म बनी है और एक कहानी के नाट्य-रूपान्तरण के बाद कई शहरों में नाट्य प्रस्तुतियाँ। कुछ कहानियाँ अन्य लेखकों द्वारा सम्पादित संग्रहों में शामिल। व्यंग्य सहित साहित्य की दूसरी विधाओं के अलावा बाल साहित्य लेखन भी। शुरुआती दौर में रंगकर्म और पटकथा लेखन से भी नाता। छिटपुट तौर पर पत्राकारिता का अध्यापन और अनुवाद कार्य भी। पहला कहानी संग्रह ‘उसने भी देखा’ (1993) और एक बाल उपन्यास ‘तोता उड़’ प्रकाशित। एक उपन्यास और पत्रकारिता पर एक पुस्तक का प्रकाशन शीघ्र ही। लम्बे समय से पत्रकारिता में रहते हुए राजनीति, खेल, कला, फिल्म, पर्यावरण, जनान्दोलन और अन्य समसामयिक मुद्दों पर लेखन और रिपोर्टिंग। साहित्यिक-सांस्कृतिक रिपोर्टिंग को नया आयाम और नये तेवर देने वाले पत्राकार के रूप में विशिष्ट पहचान। जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में घुसपैठ और ताकझाँक के विविध अनुभव। वर्तमान मं् इंडियन एक्सप्रेस समूह के दैनिक जनसत्ता में विशेष संवाददाता।

Customer Reviews

No review available. Add your review. You can be the first.

Write Your Own Review

How do you rate this product? *

           
Price
Value
Quality