Aakhiri Gaon

Format:Paper Back

ISBN:978-93-8901-296-5

Author:Giyan Chand Bagri

Pages:160


MRP : Rs. 199/-

Stock:In Stock

Rs. 199/-

Details

आख़िरी गाँव

Additional Information

यह सच्चे अर्थों में एक बेधड़क गवई का आत्मवृत्त है। ज्ञानी नाम के युवक का एक ऐसा ज़िन्दगीनामा जो उम्र की उस पहली बेखुदी तक पहुँचता है जहाँ फ़िल्मी गीतों की रूमानियत उसके सर चढ़कर बोलने लगती है। दुनिया की थली पर पहली पगथाप से लेकर होशोहवास सँभालने तक, एक ओर जहाँ इस किताब में ज्ञानी की उम्र का ज़ाती सफ़र है तो दूसरी ओर यह दास्तान गाँव देहात के जीवन की अंतरंग लीला प्रस्तुत करती है। राठ अंचल के वे बीहड़ चरित्र और वह अदेखा अपरिमित जीवन! दीवानगी और आरज़ओं से लबरेज एक रंगारंग गठरी जो ज्ञानी की जीवनयात्रा के साथ-साथ क्रमशः खुलती जाती है। यह आत्मकथा लोक-जीवन का एक ऐसा आख्यान है जो पर्दा चीरकर सच कहने की दुर्लभ साहसिकता के साथ-साथ एक उपन्यास का आह्पाट लिए हुए है।

About the writer

Giyan Chand Bagri

Giyan Chand Bagri ज्ञान चंद बागड़ी सम्प्रति : विगत 32 वर्ष से मानवशास्त्र और समाजशास्त्र का अध्ययन-अध्यापन।

Books by Giyan Chand Bagri

Customer Reviews

No review available. Add your review. You can be the first.

Write Your Own Review

How do you rate this product? *

           
Price
Value
Quality