2019 Modi Ki Jeet

Format:Paper Back

ISBN:978-81-9487-362-4

Author:Rajdeep Sardesai Translated by Prabhat Milind

Pages:


MRP : Rs. 499/-

Stock:In Stock

Rs. 499/-

Details

2019 मोदी की जीत

Additional Information

23 मई 2019 को जब आम चुनावों के परिणाम घोषित किये गये तो नरेन्द्र मोदी और भाजपा के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय लोकतान्त्रिक गठबन्धन ने प्रचण्ड बहुमत के साथ सत्ता में पुनर्वापसी की थी। कुछ लोगों के लिए ये आश्चर्यचकित करने वाले परिणाम थे, जबकि कुछ लोगों की दृष्टि में भाजपा की यह जीत सरकार और उनकी नीतियों पर आम जनता की आस्था की मुहर का प्रतीक थी। यदि किसी राजनीतिक विचार के आग्रह से मुक्त होकर मूल्यांकन किया जाय तो इस बात में कोई सन्देह नहीं कि यह एक ऐतिहासिक जनादेश था, जिसका निष्पक्ष और सुचिन्तित विश्लेषण करने की आवश्यकता है। राजदीप सरदेसाई की नयी पुस्तक 2019 : मोदी की जीत ठीक यही काम करती है। वे क्या कारण थे जिनकी वजह से मोदी पाँच साल बाद लगातार दूसरी बार अपने विरोधियों को मात देने में सफल हुए थे? आख़िर भाजपा ने उन राज्यों में भी कांग्रेस को फिर से कैसे पटखनी दे दी जिन्हें एक वक़्त उसका गढ़ माना जाता था? भाजपा के लिए इन चुनावों में केन्द्रीय मुद्दा क्या था : विकास का या फिर राष्ट्रीय अभिमान का? पिछले पाँच वर्षों में राष्ट्रीय राजनीति को दोबारा जीते हुए राजदीप पाठकों को उन सभी उतार-चढ़ावों से परिचित कराते हैं जिनकी पराकाष्ठा को 2019 के चुनावों में स्पष्ट तौर पर अनुभूत किया जा सकता है। इसी क्रम में वे भारत के राजनीतिक चरित्र और लक्षणों के साथ-साथ येन केन प्रकारेण ख़बरों की सुर्खियों में रहने वाले व्यक्तित्वों को चिह्नित करने में पाठकों की मदद करने की कोशिश करते हैं। अगर 2014 के आम चुनावों ने भारत को बदला तो इस नज़रिये से 2019 के आम चुनावों ने 'नये भारत' की रूपरेखा को परिभाषित करने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभायी। 2019 : मोदी की जीत नये भारत का रोचक वृत्तान्त है जो अभी भी अपने चरित्र में बदलने की प्रक्रिया से गुज़र रहा है।

About the writer

Rajdeep Sardesai Translated by Prabhat Milind

Rajdeep Sardesai Translated by Prabhat Milind राजदीप सरदेसाई एक वरिष्ठ पत्रकार, लेखक, स्तम्भकार और समाचार-प्रस्तोता हैं। उनके पास प्रिंट माध्यमों और टेलीविज़न की पत्रकारिता का तीस साल से भी अधिक का अनुभव है। उन्होंने अपने करियर का आरम्भ टाइम्स ऑफ़ इंडिया में 1988 में किया था, और 1994 में एनडीटीवी में आ गये। वे आईबीएन18 के संस्थापक-सम्पादक भी रहे जिसने भारत में सीएनएन-आईबीएन जैसे समाचार चैनल की शुरुआत की थी। सम्प्रति वे टीवी टुडे नेटवर्क के सलाहकार-सम्पादक हैं और एक प्रमुख प्राइम टाइम शो का संचालन भी करते हैं। अपनी उत्कृष्ट पत्रकारिता के लिए राजदीप को अनेक पुरस्कार और सम्मान मिल चुके हैं जिनमें रामनाथ गोयनका अवार्ड, दी इंटरनेशनल ब्रॉडकास्टर प्राइज़, दी एशियन टीवी अवार्ड और 2019 में आम चुनावों में उनकी कवरेज के लिए मिला प्रेम भाटिया पत्रकारिता पुरस्कार प्रमुख हैं। 2008 में उन्हें पद्मश्री से भी सम्मानित किया जा चुका है। इस पुस्तक के पहले वे तीन और पुस्तकें लिख चुके हैं : 2014 : दी इलेक्शन दैट चेंज्ड इंडिया, डेमोक्रेसी'ज़ XI : दी ग्रेट इंडियन क्रिकेट स्टोरी और न्यूज़मैन ट्रैकिंग इंडिया इन मोदी एरा । हिन्दी में अनूदित उनकी चर्चित पुस्तक टीम लोकतन्त्र : भारतीय क्रिकेट की शानदार कहानी वाणी प्रकाशन से प्रकाशित। वे नयी दिल्ली में रहते हैं।

Books by Rajdeep Sardesai Translated by Prabhat Milind

Customer Reviews

No review available. Add your review. You can be the first.

Write Your Own Review

How do you rate this product? *

           
Price
Value
Quality