Aastha : Hindu Dharma Me 40 Prabodhan

Format:Hard Bound

ISBN:978-93-89915-88-4

Author:Devdutt Pattanaik Translator : Archana Sharma

Pages:214


MRP : Rs. 299/-

Stock:In Stock

Rs. 299/-

Details

आस्था : हिन्दू धर्म में 40 प्रबोधन

Additional Information

हिन्दू इतने रूढ़िवादी क्यों हैं? वे मूर्तिपूजा क्यों करते हैं? क्या हिन्दू हमेशा से जातिवादी थे? क्या हिन्दुओं को शाकाहारी माना जाता है? हिन्दुओं की प्रार्थना मुस्लिमों की नमाज या ईसाईयों की प्रेयर से क्यों भिन्न है? क्या हज़ारों साल पहले आये मुस्लिम हमलावरों ने हिन्दू संस्कृति को नष्ट किया? हिन्दू दर्शन और उससे जुड़े भारतीय साहित्य के इन मुख्य सवालों के जवाब देवदत्त पट्टनायक ने अपनी नई किताब में आसान, स्पष्ट और रोचक माध्यम से दिए हैं। उन्होंने हिन्दू धर्म के जटिल तत्वों को सुलझाकर रख दिया है। 'आस्था' बहुत से जिज्ञासु पाठकों को दुनिया में सबसे ज़्यादा प्रचलित हिन्दू धर्म के कई नए पहलुओं से अवगत कराएगी।

About the writer

Devdutt Pattanaik Translator : Archana Sharma

Devdutt Pattanaik Translator : Archana Sharma देवदत्त पट्टनायक, आज के युग में पौराणिक प्रासंगिकता को अपने लेखन, चित्रण और व्याख्यान के माध्यम से अभिव्यक्त करते हैं। 1996 से अब तक ये पचास से ज़्यादा किताबें लिख चके हैं, उन सभी किताबों और लगभग एक हज़ार लेखों में उन्होंने लिखा है कि किस तरह कहानियाँ, प्रतीक और रिवाज विश्व भर की प्राचीन और आधुनिक संस्कृतियों में व्यक्तिपरक सत्य या मिथकों का निर्माण करते हैं। इनकी कुछ किताबें हैं-सेवेन सीक्रेट्स ऑफ़ हिन्दू कैलेंडर आर्ट (वेस्टलैंड), मिथ-मिथ्या : ए हैंडबुक ऑफ़ हिन्दू माइथोलॉजी (पेंग्विन रैंडम हाउस), जया : एन इलस्ट्रेटेड रीटेलिंग ऑफ़ द महाभारत (पेंग्विन रैंडम हाउस), सीता : एन इलस्ट्रेटेड रीटेलिंग ऑफ़ द रामायण (पेंग्विन रैंडम हाउस), ओलम्पस : एन इंडियन रीटेलिंग ऑफ़ द ग्रीक मिथ्स (पेंग्विन रैंडम हाउस), बिज़नेस सूत्र : ए वेरी इंडियन एप्रोच टू मैनेजमेंट (अलेफ बुक कम्पनी), माय गीता (रूपा पब्लिकेशन) और देवलोक विद देवदत्त पट्टनायक सीरीज़ (पेंग्विन रैंडम हाउस)। अधिक जानकारी के लिए देखें-devdutt.com अनुवादक परिचय अर्चना शर्मा, हिन्दी समाचारपत्रों एवं पत्रिकाओं में स्वतंत्र लेखन और अनुवादक के रूप में काम करती हैं। इससे पूर्व वो मानव संसाधन विभाग में कार्यरत थीं।

Books by Devdutt Pattanaik Translator : Archana Sharma

Customer Reviews

No review available. Add your review. You can be the first.

Write Your Own Review

How do you rate this product? *

           
Price
Value
Quality